in

आपके ब्रेन को ‘बर्बाद’ कर सकती है छोटी सी गलती ! इसे सुधारकर जिंदगी बनाएं खुशहाल

हाइलाइट्स

स्ट्रेस की वजह से हमारे शरीर में कॉर्टिसोल हार्मोन रिलीज होता है. स्ट्रेस की वजह से ब्रेन के न्यू न्यूरॉन्स डैमेज होने का खतरा होता है.

Stress Increases Mental Illness: दुनियाभर में तनाव (Stress) महामारी की तरह फैल रहा है. हर उम्र के लोग तनाव का सामना कर रहे हैं. पर्सनल लाइफ से लेकर प्रोफेशनल लाइफ तक लोग हर दिन स्ट्रेस में रहते हैं. लंबे समय तक स्ट्रेस की वजह से हमारी फिजिकल और मेंटल हेल्थ बुरी तरह प्रभावित होती है. कुछ लोग इस परेशानी से बचने के लिए योग और एक्सरसाइज का सहारा लेते हैं. अधिकतर लोग इस समस्या को इग्नोर करते रहते हैं. क्या आप जानते हैं कि ज्यादा तनाव ब्रेन को डैमेज कर आपको दिमागी मरीज बना सकता है? सुनकर आप चौंक रहे होंगे, लेकिन यह बात सही है. अत्यधिक तनाव आपके दिमाग का दुश्मन होता है. आज आपको तनाव से होने वाली मेंटल प्रॉब्लम्स के बारे में बताएंगे, जिसे सुनकर आप हैरान हो जाएंगे.

यह भी पढ़ेंः हर दिन टेनिस खेलने से कम होगा वजन ! 30 मिनट में मिलेगा ट्रांसफॉर्मेशन

स्ट्रेस से सिकुड़ सकता है ब्रेन
अब तक कई स्टडी में यह बात सामने आ चुकी है कि अत्यधिक तनाव लेने की वजह से आपका दिमाग सिकुड़ सकता है. वेरीवेल माइंड की रिपोर्ट के मुताबिक तनाव की वजह से हेल्दी लोगों का ब्रेन भी सिकुड़ सकता है. स्ट्रेस का सबसे ज्यादा असर ब्रेन के इमोशंस, मेटाबॉलिज्म और मेमोरी वाले हिस्से पर होता है. लंबे समय तक तनाव की वजह से कई मेंटल डिसऑर्डर हो सकते हैं. इतना ही नहीं कई मामलों में ब्रेन के साइज और स्ट्रक्चर में भी बदलाव आ जाते हैं. ऐसा होने से दिमाग पर गहरा असर पड़ता है और आपकी मेमोरी भी बुरी तरह प्रभावित होती है. ज्यादा उम्र के लोगों की मेमोरी इससे वीक हो जाती है.

यह भी पढ़ेंः  ऐसे लोगों को भूलकर भी नहीं करना चाहिए डांस, हो जाएंगे हार्ट अटैक का शिकार

ब्रेन सेल्स हो सकती हैं डैमेज
स्ट्रेस की वजह से ब्रेन के न्यू न्यूरॉन्स डैमेज हो जाते हैं. ये न्यूरॉन्स मेमोरी, इमोशंस और लर्निंग से जुड़े होते हैं. इसका खुलासा एक स्टडी में हुआ था. यह ब्रेन का वह एरिया है जहां पर नई ब्रेन सेल्स का फॉरमेशन होता है. स्ट्रेस की वजह से मेंटल इलनेस की समस्या बढ़ सकती है. इसकी वजह से हमारे दिमाग में कई गैर जरूरी बदलाव हो जाते हैं, जो मेंटल डिसऑर्डर की वजह बन जाते हैं. जो लोग अपनी लाइफ में किसी ट्रॉमा से गुजर चुके हैं, उन्हें स्ट्रेस को लेकर विशेष सावधानी बरतनी चाहिए. उनके लिए ज्यादा तनाव लेना गंभीर बीमारी की वजह बन सकता है.

मेमोरी हो सकती है वीक
अक्सर आपने महसूस किया होगा कि जब आप ज्यादा तनाव में होते हैं तब चीजों को याद रखना मुश्किल हो जाता है और कई बार इसकी वजह से आप सही फैसला भी नहीं ले पाते हैं. स्ट्रेस की वजह से हमारे शरीर में कॉर्टिसोल हार्मोन रिलीज होता है, जिसे स्ट्रेस हार्मोन भी कहा जाता है. इस हार्मोन का असर हमारी मेमोरी पर होता है और मेमोरी वीक हो जाती है. लंबे समय तक स्ट्रेस लेने से मेमोरी से संबंधित बीमारियां हो सकती हैं.

Tags: Health, Lifestyle, Mental health, Trending news

Source link

Entertainment 5 Positive News: शाहिद कपूर से कपिल शर्मा तक, पढ़िए 5 पॉजिटिव खबरें

Video: ‘लूट लिया हरियाणा’ पर सपना चौधरी ने दिखाएं डांसिंग मूव्स, ऑडियंस के बीच लड़की ने दी टक्कर