in

कई हेल्थ प्रॉब्लम्स से राहत दिलाती है लो हिस्टामाइन डाइट, जान लीजिए जरूरी बातें

हाइलाइट्स

इससे एटॉपिक डर्मेटाइटिस जैसे लक्षणों से राहत मिल सकती हैचिकन, गाजर जैसी चीजों का सेवन कर राहत पाई जा सकती है.

Benefits Of Low Histamine Diet: लो हिस्टामाइन डाइट का पालन करने से आप यह पता लगा सकते हैं कि वह कौन सी चीजें हैं जिनसे आपको छींक आना, खुजली होना और हाइव्स जैसे लक्षण देखने को मिल सकते हैं. इनसे आप को यह पता लग सकता है कि आपका शरीर किन हिस्टामाइन वाली चीजों को नहीं पचा पाता है और फिर उन्हें अवॉइड करने में आपको मदद मिल सकती है. हिस्टामाइन एक तरह का केमिकल होता है जो चोट लगने पर या कोई बाहर की चीज शरीर में प्रवेश करती है जब रिस्पॉन्स के रूप में देखने को मिलता है. इसके लक्षणों में खुजली होना , हाईव्स होना, छींक आना, आंखों से पानी आना, अस्थमा और सिर दर्द आदि होते है. आइए जानते हैं कि लो हिस्टामाइन डाइट कैसे आपकी मदद कर सकती है.

यह भी पढ़ेंः फिजिकल और मेंटल हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद होती है मॉर्निंग वॉक

लो हिस्टामाइन डाइट के फायदे
वेरीवेल हेल्थ डॉट कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक एक हालिया रिसर्च में यह बात सामने आई है कि अगर एक महीने तक लो हिस्टामाइन डाइट का पालन किया जाए तो इन लक्षणों के कम होने में काफी मदद मिल सकती है. इससे एटॉपिक डर्मेटाइटिस जैसे लक्षणों से राहत पाई जा सकती है. हालांकि अगर ज्यादा दिक्कत होती है तो डॉक्टर के पास जरूर जाएं.

यह भी पढ़ेंः देश में घट रहा ब्रेस्ट कॉस्मेटिक सर्जरी का ट्रेंड ! लिपोसक्शन का क्रेज बढ़ा

इन चीजों से बनाएं दूरी
-कुछ प्रकार की मछलियां
-काफी पुराना चीज़
-प्रोसेस्ड मीट
-वाइन और बीयर
-फर्मेंटेड प्रोडक्ट्स
-पालक
– बैंगन
-टमाटर और एवोकाडो 

कौन से फूड्स खाएं?
-ओटमील, पफ्ड चावल, सेब, खरबूज जैसे फल.
-आम, नारियल के दूध, चिया सीड्स और केल आदि से बनने वाली स्मूदी
–चिकन और केल का सलाद, चिकन, लेटस और ग्रेट की हुई गाजरों का सैंडविच आदि जैसी चीजों का सेवन किया जा सकता है.

Tags: Health, Healthy Foods, Lifestyle

Source link

Bhojpuri Song: आ गया नीलकमल सिंह का धमाकेदार गाना, DJ OPERATOR बन भोजपुरी एक्ट्रेस संग मचाया धमाल

दास्तान-गो : शाह-रुख़ (खान) सी शान और पहचान चाहिए, तो ‘हिचकियों’ से हारिए मत