in

कैंसर से बचाव करने में कारगर है कालमेघ, जानिए इसके फायदे और नुकसान

हाइलाइट्स

कालमेघ लिवर को सुधारने में मदद करता है.कालमेघ से मिस कैरेज तक हो सकता है.

What is Kalmegh- सालों से आयुर्वेद और दवाओं में कालमेघ नाम के हर्ब का इस्तेमाल किया जा रहा है. इसके कई तरह के फायदे हैं लेकिन इससे होने वाले नुकसान को भी अनदेखा नहीं किया जा सकता. भारत में जड़ी बूटियों की कोई कमी नहीं है. इस मामले में देश समृद्ध है. कई दशकों से यहां आयुर्वेद चिकित्सा की मदद से कई तरह की बिमारियों को ठीक किया जाता है. इस तरह के ट्रीटमेंट में बिल्कुल नेचुरल तरीके से इलाज किया जाता है. आयुर्वेद में औषधि गुणों से भरपूर पौधों की सबसे ज्यादा जरूरत होती है. जिसमें से एक पौधा कालमेघ नाम का भी शामिल है.

कालमेघ औषधीय गुणों से भरपूर है. जिसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-वायरल और एंटी- ऑक्सीडेंट जैस खास तत्व शामिल होते हैं. इसकी मदद से कई तरह की शारीरिक समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है. कालमेघ के जितने फायदे हैं, उतने ही नुकसान भी हैं. आइए  कालमेघ से जुड़ी हर तरह की जानकारी के बारे में जान लेते हैं.

कालमेघ के फायदे

इन्फेक्शन से करे बचाव
कालमेघ में एंटी-बायोटिक के गुण होते हैं. इसके इस्तेमाल से हर तरह के इन्फेक्शन को दूर करने में मदद मिल सकती है. गैस्टोरेशन इन्फेक्शन, सांस की नली में इन्फेक्शन, गले का इन्फेक्शन, बुखार और फ्लू से जुड़े इन्फेक्शन को दूर करने में कालमेघ मददगार हो सकता है.

दर्द को करे दूर
कालमेघ एनाल्जेसिक से भरपूर जड़ी बूटी है. इसे दर्द निवारक के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. इससे सूजन कम होती है और खून की कमी नहीं होती.

पाचन से जुड़ी दिक्कत करे दूर
पाचन से जुड़ी किसी तरह की समस्या को दूर करने के लिए, कालमेघ का इस्तेमाल फायदेमंद होता है. इससे पेट साफ रहता है, और मल करने में समस्या नहीं होती. अगर पित्त से जुड़ी कोई समस्या है, तो उसे दूर करने में मदद मिलती है.

लिवर को रखे दुरुस्त
कालमेघ लिवर की सुरक्षा करने में काफी फायदेमंद है. इसकी मदद से लिवर में बनने वाले जहरीले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद मिलती है. लिवर की खराबी से जान तक जा सकती है. इसमें होने वाले इन्फेक्शन को भी कालमेघ रोकता है.

यह भी पढ़ेंः बीमारियां फैलने की सबसे बड़ी वजह आई सामने, हर किसी पर खतरा !

कैंसर से करे बचाव
कैंसर के इलाज के लिए कालमेघ का उपचार किया जा सकता है. कालमेघ में कैंसरोलाइटिक के गुण होते हैं जो कैंसर की कोशिकाओं को मार देता है. इसके अलावा कालमेघ कैंसर पैदा करने वाले एजेंटों के खिलाफ लड़ता है.

यह भी पढ़ेंः गुड कोलेस्ट्रॉल इन 5 तरीकों से करें बूस्ट, हार्ट डिजीज की टेंशन हो जाएगी खत्म

जरूरत से ज्यादा कालमेघ का इस्तेमाल शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है.

कालमेघ के ज्यादा इस्तेमाल से सुस्ती और आलस की स्थिति हो सकती है.

अगर जरूरत से ज्यादा कालमेघ का सेवन कर लिया जाए तो एलर्जी हो सकती है.

स्किन में चकत्तों की समस्या हो सकती है.

कालमेघ से मिस कैरेज तक हो सकता है.

कालमेघ से प्रोजेस्टेरोन रुक सकता है.

Tags: Health, Health benefit, Lifestyle

Source link

रणबीर कपूर-आलिया भट्ट की ’ब्रह्मास्त्र’ से PVR को 800 करोड़ का नुकसान? विवेक अग्निहोत्री ने किया रिएक्ट

Indian Idol 13: नवदीप वडाली की आवाज सुन खड़े हुए नेहा कक्कड़ के रोंगटे, विशाल ददलानी ने किया सलाम