in

कैसे समझें कि पीरियड्स अनियमित हो गए हैं, जानें इससे बचने के टिप्स

हाइलाइट्स

थायरॉयड प्रोब्लम या गर्भाशय में पॉलिप के कारण पीरियड अनियमित हो सकता हैपोलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के कारण पीरियड में दिक्कत हो सकती हैऔसत महिलाओं में नॉर्मल पीरियड साइकिल 28 दिनों का होता है

irregular periods: प्रत्येक महिला की शरीर की संरचना अलग-अलग तरह से होती है. किसी में सब कुछ घड़ी की तरह काम करती है तो किसी में शरीर की घड़ी धीमी होने लगती है तो किसी में तेज. यह शरीर की संरचना पर निर्भर करता है. प्रजनन की उम्र में महिलाओं में अनियमित पीरियड आम बात है. लेकिन अमूमन कुछ दिनों की देरी या कुछ दिन मासिक धर्म पहले आ जाने पर महिलाएं परेशान हो जाती हैं. औसत महिलाओं में नॉर्मल पीरियड साइकिल 28 दिनों का होता है लेकिन यह अवधि कम और ज्यादा हो सकती है. लेकिन महिलाएं इससे घबरा जाती हैं. वेबएमडी की खबर के मुताबिक यदि 24 से 38 दिनों के अंदर पीरियड आ जाता है तो इसे सामान्य पीरियड कहा जा सकता है. इसके बाद 2 से 8 दिनों की पीरियड की हो सकती है. फिर यह सवाल उठता है कि अनियमित पीरियड किसे कहा जाएगा.

अनियमित पीरियड कब
यदि कई महीनों तक पीरियड के शुरू होने के अंतराल में बड़ा बदलाव दिखे तो यह अनियमित पीरियड के लक्षण हो सकते हैं. इसके अलावा प्रत्येक महीने रक्तस्राव की मात्रा में बदवाव हुआ हो तो भी यह अनियमित पीरियड है. रिपोर्ट के मुताबिक यदि पीरियड की अवधि में बदलाव आता है तो भी अनियमित पीरियड हो सकता है.

इसे भी पढ़ेंः क्या आप भी अनानास खाने से कतराते हैं? आपके लिए जरूरी है इसका कारण जानना

अनियमित पीरियड के कारण
हालांकि इसके कई कारण हो सकते हैं लेकिन आमतौर पर इसके प्रमुख कारण निम्नलिखित हैं-
किसी अंदरुनी डिवाइस का इस्तेमाल करने से अनियमित पीरियड हो सकता है.
बर्थ कंट्रोल की गोली खाने या कुछ अन्य दवाइयों के कारण भी हो सकता है.
बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करने से अनियमित पीरियड हो सकता है.
पोलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के कारण पीरियड में दिक्कत हो सकती है.
ब्रेस्टफीडिंग का असर भी पड़ सकता है.
बहुत ज्यादा तनाव, अवसाद के कारण भी ऐसा हो सकता है.
थायरॉयड प्रोब्लम या गर्भाशय में पॉलिप के कारण पीरियड अनियमित हो सकता है.
गर्भाशय में फाइब्रॉयड के कारण भी पीरियड अनियमित हो सकता है.

इलाज क्या है
आमतौर पर यदि कोई खास दिक्कत नहीं है तो इसका इलाज कराने की जरूरत नहीं पड़ती. कुछ महीनों के बाद यह सामान्य हो जाता है. लेकिन अगर लगातार ऐसा हो रहा है या इससे किसी तरह की परेशानी है तो डॉक्टर से दिखाने की जरूरत पड़ती है. वैसे अनियामित पीरियड से बचने के लिए योग करें. योग तनाव को कम करता है और बॉडी को हेल्दी रखता है. इसके साथ यह वजन को कंट्रोल करता है. डाइट में कुछ फ्रूट का सेवन करें. अनानास का सेवन अनियमित पीरियड को नॉर्मल कर सकता है. अनियमित पीरियड्स में अजवाइन का सेवन भी फायदेमंद है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle, Woman

Source link

प्रियंका चोपड़ा ने दिखाई अपने घर के अंदर की झलक, Los Angeles में इस तरह रहती हैं ‘देसीगर्ल’

Chakda Xpress: झूलन गोस्वामी के किरदार से न्याय करने की अनुष्का शर्मा कर रहीं कोशिश, देखिए लेटेस्ट PIC