in

क्या किसी भी उम्र के लोगों को हो सकते हैं पिंपल्स? जानें प्रमुख वजह और घरेलू नुस्खे

हाइलाइट्स

पिंपल्स चेहरे के अलावा कंधों और पीठ पर भी हो सकते हैं. टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल पिंपल्स से छुटकारा दिला सकता है.

Pimples On The Back: टीनएज शुरू होने साथ ही हमारे चेहरे पर पिंपल्स आने शुरू हो जाते हैं. ये एक आम समस्या है, जो अधिकतर लोगों को होती है. ऐसा नहीं है कि पिंपल्स केवल टीनएज में ही होते हैं, कई मामलों में ये देखा गया है कि उम्र के साथ पिंपल्स की समस्या बनी रह सकती है. पिंपल्स आमतौर पर चेहरे पर ही होते हैं, लेकिन ये पिंपल्स बॉडी के अन्य पार्ट्स जैसे शोल्डर्स, पीठ, छाती और गर्दन पर भी हो सकते हैं. जब हमारे स्किन पोर्स डेड स्किन सेल्स की वजह से ब्लॉक्ड हो जाते हैं तब स्किन पर पिंपल्स निकलने लगते हैं. बॉडी में सीबम प्रोडक्शन और बैक्टीरियम प्रोपियोनीबैक्टीरियम की वजह से भी पिंपल्स होते हैं. कई बार हार्मोन्स में बदलाव, कुछ दवाओं और कोमेडोजेनिक प्रोडक्ट्स के उपयोग से भी पिंपल्स होते हैं. आज हम यहां पिंपल्स के प्रकार और इनके उपचार के बारे में जानेंगे.

पीठ पर हो सकते हैं पिंपल्स
हार्मोनल चेंजेस की वजह से अक्सर टीनएज में पिंपल्स होना एक आम बात है, लेकिन पिंपल्स किसी भी उम्र के लोगों को हो सकते हैं. पीठ या कंधों पर पिंपल्स कई कारणों से होते हैं. हेल्थलाइन के मुताबिक कई बार टाइट और अनकम्फर्ट ड्रेस और बैकपैक या पर्स की स्ट्रेप से बार-बार एक ही जगह पर प्रेशर पड़ने से भी कंधे या पीठ पर पिंपल्स हो जाते हैं.

जेनेटिक कारण भी जिम्मेदार
कई बार जेनेटिक वजह से भी कुछ लोगों में पिंपल्स की समस्या होती है. कई लोगों का मानना है कि पुअर हाईजीन और गंदी स्किन की वजह से पिंपल्स होते हैं. शरीर के भीतर अत्यधिक सेबम का बनना, डेड स्किन सेल्स और अन्य खराब चीजें पोर में फंस जाती हैं जिससे स्किन के पोर्स ब्लॉक हो जाते हैं. यही बंद पोर्स पिंपल का कारण बनते हैं.

ये भी पढ़ें: स्किन से गायब हो रहा है नेचुरल ग्‍लो तो स्किन केयर में शामिल करें ब्राइडल उबटन

पिंपल्स को ठीक करने के घरेलू नुस्खे

टी ट्री आयल: एलोवेरा, प्रोपोलिस और टी ट्री आयल से बने स्किन केयर प्रोडक्ट्स  का करें इस्तेमाल. ये पिंपल्स को कम करने में एंटीबायोटिक की तुलना में ज्यादा असरदार होते हैं.

एप्पल साइडर विनेगर: एप्पल साइडर विनेगर पिंपल्स के लिए जिम्मेदार बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करता है. एप्पल साइडर विनेगर लगाने से कई बार स्किन में इचिंग या जलन की समस्या हो जाती है. इसलिए इसे तीन चौथाई पानी में एक चौथाई एप्पल साइडर विनेगर मिलाकर उपयोग करना चाहिए.

ये भी पढ़ें: स्किन पर करते हैं टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल तो जान लें ये ज़रूरी बातेें

ओटमील बाथ-ओटमील में सूदिंग और एंटी-इनफ्लेमेंट्री एजेंट होते हैं. ये ड्राई, इची या रफ स्किन के लिए अच्छा होता है. ओटमील बाथ से कंधे और पीठ के पिंपल्स खत्म हो जाते हैं.

Tags: Health, Lifestyle, Skin care

Source link

Richa chadha Ali Fazal Wedding: ऋचा चड्ढा-अली फजल की शादी की डेट फाइनल, 5 दिन तक चलेगा जश्न

मिल गई ‘ड्रिम जॉब’, कुछ ना करने के मिलते हैं पैसे, इस शख्स ने कमाए 2 करोड़ रुपए | shoji morimoto japan rental do nothing man, dream job