in

खुश रहने की ‘चाबी’ मिल गई ! इन बेहतरीन तरीकों से हैप्पी हार्मोंस को कर सकते हैं कंट्रोल

हाइलाइट्स

म्यूजिक सुनने से स्ट्रेस लेवल कम होता है और आपके दिमाग में डोपामाइन हार्मोन का प्रोडक्शन बढ़ जाता है.दोस्तों के साथ कुछ वक्त बिताने और हंसी-मजाक से हैप्पी हार्मोन डोपामाइन और एंडोर्फिन रिलीज होता है.

How to Control Happy Hormones: अगर आपसे पूछा जाए कि खुश रहने के लिए आप क्या करते हैं तो किस तरह जवाब देंगे? कुछ लोग कहेंगे कि वे अपने पसंदीदा काम के दौरान खुश रहते हैं, तो कुछ फैमिली के साथ वक्त बिताने को खुशहाल पल बताएंगे. यह बातें काफी हद तक सही हैं, लेकिन एक्सरसाइज व अन्य फिजिकल एक्टिविटी करने से भी आप खुश रह सकते हैं. सुनने में अजीब लग रहा होगा लेकिन इसके पीछे कुछ वैज्ञानिक वजह हैं. दरअसल हमारे शरीर में कुछ ऐसे हार्मोन होते हैं, जो हमारी मेंटल हेल्थ और मूड को बेहतर बनाकर खुशी देते हैं. इनमें डोपामाइन, सेरोटोनिन, ऑक्सीटॉसिन और एंडोर्फिंस प्रमुख हैं. जब यह हार्मोन शरीर में रिलीज होते हैं, तो लोग बेहतर महसूस करते हैं. इन हार्मोंस को कंट्रोल करके आप खुश रह सकते हैं. इस बारे में कुछ अनोखी बातें जान लीजिए.

हर दिन करें एक्सरसाइज
हेल्थलाइन की रिपोर्ट के मुताबिक हर दिन करीब 30 मिनट तक एक्सरसाइज करने से हमारा शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य बेहतर होता है. एक्सरसाइज करने के दौरान हमारे शरीर में एंडोर्फिन हार्मोन रिलीज होता है, जिसे नेचुरल पेन रिलीवर कहा जाता है. यह हार्मोन हमारी स्ट्रेस और अन्य परेशानियों को दूर कर मूड को बेहतर बनाता है. फिजिकल एक्टिविटी करने से करने से डोपामाइन और सेरोटोनिन हॉर्मोन का लेवल भी बेहतर हो जाता है.

यह भी पढ़ेंः ‘प्लांट बेस्ड मीट’ हेल्थ के लिए एनिमल मीट से ज्यादा फायदेमंद? स्टडी में खुलासा

घर से बाहर खुले में जाएं
कुछ लोग सप्ताह के अधिकतर दिन घरों में रहते हैं और बाहर बेहद कम निकलते हैं. ऐसा करना मेंटल हेल्थ के लिए अच्छा नहीं होता. एक रिसर्च के मुताबिक जब आप सूरज की रोशनी में जाते हैं तो शरीर में सेरोटोनिन हार्मोन का प्रोडक्शन बढ़ जाता है. यह हार्मोन आपके मूड को बेहतर बनाने, डाइजेशन ठीक करने और बेहतर नींद के लिए जरूरी होता है. सप्ताह में कुछ दिन 15 मिनट के लिए घर से बाहर जरूर निकलना चाहिए. इससे आपके हैप्पी हार्मोन बूस्ट हो जाएंगे.

दोस्तों के साथ हंसी-मजाक जरूरी
अब तक कई स्टडी में यह बात सामने आ चुकी है कि बेहतर स्वास्थ्य के लिए हंसना जरूरी होता है. हंसी मजाक करने से स्ट्रेस और एंजाइटी से राहत मिलती है. दोस्तों या करीबी लोगों के साथ कुछ वक्त बिताने और हंसी मजाक करने से हैप्पी हार्मोन डोपामाइन और एंडोर्फिन रिलीज होता है. जब आप अपने पार्टनर के साथ हंसी मजाक करते हैं तो ऑक्सीटॉसिन भी रिलीज होने की संभावना बढ़ जाती है.

यह भी पढ़ेंः जिंदगी में अच्छे दोस्त बनाइए और कैंसर से छुटकारा पाइए !

पसंदीदा खाना बनाएं और एंजॉय करें
खाना बनाने के शौकीन लोगों के लिए अच्छी खबर है. पसंदीदा खाना बनाते वक्त हैप्पी हार्मोन बूस्ट होते हैं और आपका मूड बेहतर होता है. खासतौर से जब अपने करीबी शख्स के साथ ऐसा करते हैं तो ज्यादा खुशी होती है. फेवरेट खाना खाते वक्त डोपामाइन रिलीज होता है.

म्यूजिक सुनें और स्ट्रेस मैनेज करें
अपने कई बार पसंदीदा म्यूजिक से अपना मूड बेहतर होते हुए देखा होगा. म्यूजिक सुनने से स्ट्रेस लेवल कम होता है और आपके दिमाग में डोपामाइन हार्मोन का प्रोडक्शन बढ़ जाता है. पसंदीदा म्यूजिक सुनने से आपका मूड बेहतर होता है और बेहतर फील करते हैं. इसके अलावा स्ट्रेस मैनेज करने से आप खुश रह सकते हैं. छोटी-छोटी बातें काफी फायदेमंद साबित होगी.

Tags: Health, Life, Lifestyle, Trending news

Source link

सच्ची घटनाओं पर आधारित हैं बॉलीवुड की ये TOP 10 फिल्में, जिन्हें मिला ऑडियंस का भरपूर प्यार

Prasoon Joshi B’day Spl: प्रसून जोशी करियर की शुरुआत में लिखते थे जिंगल, आज हैं बॉलीवुड के मशहूर गीतकार