in

टीनएजर बच्‍चों की पेरैंटिंग करने के लिए इन टिप्‍स को करें फॉलो, बॉन्डिंग रहेगी स्ट्रांग

हाइलाइट्स

इस बात पर नजर रखें कि कहीं आपका बच्‍चा गलत संगत में तो नहीं है.उसके लक्ष्‍य को पूरा करने में अपना पूरा सपोर्ट दिखाएं और मोटिवेट करें.

Parenting Tips For Teen Teenager: हो सकता है कि इन दिनों आपको यह महसूस होता हो कि आपके टीन एजर बच्‍चों पर आपका प्रभाव कम हो गया है, लेकिन आपको बता दें कि किशोरों का व्‍यवहार, माता पिता के बॉन्डिंग से काफी जुड़ा हुआ होता है. माता-पिता और टीन एजर बच्‍चों के बीच का ये पॉजिटिव रिलेशन स्‍कूल में परफॉर्मेंस, दोस्‍तों के साथ व्‍यवहार, घर बाहर लोगों से मिलना जुलना, उनकी खुशी और उनकी सफलता का एक बहुत बड़ा राज कहा जा सकता है. अगर माता पिता के साथ उनका खराब रिश्‍ता हो तो यह उन्‍हें खराब दिशा में धकेलने का काम भी करता है. तो आइए आज हम आपको बताते हैं कि बढ़ते बच्‍चों या टीनएजर बच्‍चों के साथ आप किस तरह अच्‍छी बॉन्डिंग बना सकते हैं और एक सकारात्‍मक रिश्‍ता रख सकते हैं.

टीनएजर बच्‍चों की इस तरह करें पेरैंटिंग

गार्जियन और दोस्‍त बनें
टीनएजर बच्‍चों की बेहतर परवरिश के लिए आपको गार्जियन बनने के साथ एक दोस्‍ताना रिश्‍ता भी डेवलप करना होगा. जिससे वे अपनी परेशानियां या हर तरह की बातें आपके साथ खुलकर साझा करेंगे और किसी तरह की गलत चीजों में फंसने से बचे रहेंगे. दोस्‍ताना रिश्‍ता उन्‍हें आपके करीब रखेगा और आप उन्‍हें सही गलत की जानकारी बेहतर तरीके से बता सकेंगे.

कुछ समय साथ में गुजारे
यह जरूरी है कि आप दिनभर में कम से कम कम से कम आधा घंटा जरूर साथ गुजारें. यह समय सफाई का हो सकता है, कुकिंग का या कुछ और. रात में सोने से पहले आप साथ में 15 मिनट की वॉक कर सकते हैं और दिनभर की बातों को साझा कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: बच्चों के साथ ट्रेन में ट्रेवल करते वक्त फॉलो करें ये टिप्स, ऐसे रखें बच्चों का ख्याल

नजर रखें
भले ही आप अपने टीन एजर बच्‍चों पर भरोसा रखते हों और उन्‍हें कुछ आजादी भी दे रहे हों, लेकिन इस बात की जानकारी जरूर रखें कि वे कहां जा रहे हैं, किससे मिल रहे हैं, क्‍या कर रहे हैं या उनके दोस्‍त कौन हैं.

लक्ष्‍य तक पहुंचने में करें मदद
हर टीन एजर अपना एक लक्ष्‍य बनाता है और उसे खुद पूरा करना चाहता है. ऐसे में आप उसकी मदद करें और उसे बताएं कि आप हर संभव उनके इस लक्ष्‍य को प्राप्‍त करने में उनके साथ हैं.

 इसे भी पढ़ें : घर में एक्टिव रहने वाले बच्चे स्कूल में क्यों हो जाते हैं गुमसुम? पैरेंट्स को जरूर जाननी चाहिए वजह

साथ में डिनर करें
कोशिश करें कि दिन में एक वक्‍त पूरा परिवार साथ मिलकर खाना खाएं. इस समय आप दिनभर की घटनाओं पर बात कर सकते हैं और उनकी समस्‍याओं और जरूरतों की जानकारी भी ले सकते हैं. हालांकि कोशिश करें कि इस समय किसी ऐसे विषय को ना उठाएं जो उन्‍हें ठेस पहुंचा सकती हैं. ऐसी बातों को आप खाने के बाद या किसी सही वक्‍त पर बोल सकते हैं. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Lifestyle, Parenting, Parenting tips

Source link

क्या आलिया भट्ट और रणबीर कपूर नहीं दिखाएंगे अपनी लाडली का चेहरा? इस पोस्ट से मिल रहा हिंट

अनुराग कश्यप की वजह से जब ‘Ugly’ के सेट पर एक्टर्स हो गए थे कन्फ्यूज