in

दिल कमज़ोर हो रहा है तो महसूस होने लगते हैं ये लक्षण, जानें कब डॉक्टर की लेना चाहिए सलाह

हाइलाइट्स

दिल कमजोर होने पर शरीर में कई संकेत नजर आने लगते हैं. सीने में दर्द के साथ ज्यादा पसीना आना हो सकता है हार्ट अटैक.

देश के जाने-माने कॉमेडियन रहे राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastav) की मौत ने सभी को सोचने पर मजबूर कर दिया है. 58 साल की उम्र में राजू श्रीवास्तव का दिल का दौरा पड़ने से 21 सितंबर को निधन हो गया था. खुद को फिट रखने के लिए रोजाना जिम जाने वाले राजू श्रीवास्तव दिल के मरीज थे. हममें से भी कई लोग दिल संबंधी बीमारियों को लेकर काफी लापरवाही बरतते हैं. हार्ट हेल्थ को लेकर की गई ये लापरवाही कई बार गंभीर स्थिति पैदा कर सकती है. ऐसे में ये बेहद जरूरी हो जाता है कि हम समय रहते ही कमजोर हो रहे हमारे दिल की स्थिति को पहचान लें और उसी हिसाब से अपने दिल की सेहत को दुरुस्त करें.
बता दें कि हार्ट से जुड़ी समस्याएं शुरू होने पर इसका संकेत हमारे शरीर को विभिन्न तरीकों से मिलने लगता है. bhf.org.uk की खबर के अनुसार दिल संबंधी बीमारियों में नजर आने वाले कुछ जरूरी लक्षणों को हमें नज़रअंदाज नहीं करना चाहिए वरना ये मुसीबत का सबब बन सकते हैं.

इन लक्षणों को न करें नज़रअंदाज़

सीने में दर्द – हमारा दिल खतरें में है इसका सबसे कॉमन संकेत होता है सीने में भारीपन का महसूस होना. आपकी अगर आर्टरी ब्लॉक हो चुकी है या फिर हार्ट अटैक आया है तो आप दर्द, कड़कपन या सीने में दबाव महसूस कर सकते हैं. अलग-अलग लोगों में इसे लेकर अलग-अलग संकेत सामने आते हैं. कई लोगों को लगता है कि उनके सीने में बेहद भारी चीज़ रखी हुई है. ये तब महसूस हो सकता है जब आप आराम कर रहे हैं या फिर कोई फिजिकल वर्क कर रहें हैं.

बीमार महसूस करना – दिल कमजोर होने पर हर वक्त बीमार सा महसूस होने लगता है. अगर चेस्ट पेन के साथ उल्टियां भी हो रही हैं तो ये दिल संबंधी बीमारी के संकेत हो सकते हैं. आप अगर कोई मेहनत का काम नहीं कर रहे हैं उसके बाद भी बीमार महसूस करते हैं तो डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है.

इसे भी पढ़ें: राजू श्रीवास्तव ने हार्ट अटैक से 3 दिन पहले मिली फैमिली डॉक्टर की सलाह की थी नज़रअंदाज़, आप न करें ऐसी गलतियां

पेट दर्द – पेट में दर्द बना रहना या फिर डाइजेशन ठीक न होना भी हार्ट अटैक या फिर दिल संबंधी बीमारियों का संकेत हो सकता है. कई लोग इन समस्याओं को नजर अंदाज कर देते हैं जो बाद में मुसीबत का सबब बन सकता है.

ज्यादा पसीना आना – काम करने के दौरान शरीर से पसीना आना सामान्य प्रक्रिया होती है. लेकिन अगर आपको को सामान्य तापमान में भी सीने में दर्द के साथ ही गर्मी महसूस होती है और पसीना आना शुरू हो जाता है तो ये कमजोर दिल या हार्ट अटैक के संकेत हो सकते हैं.

पैरों में दर्द होना – अक्सर हम लोग अपने पैरों में होने वाले दर्द को अनदेखा कर देते हैं, लेकिन कई बार पैरों का दर्द दिल के कमजोर होने का भी संकेत हो सकता है. आप अगर चलने के दौरान पिंडली में क्रैंपिंग या जकड़न महसूस करें तो इसे नज़रअंदाज न करें.

जबड़ा और पीठ में दर्द – प्रोफेसर न्यूबाई के अनुसार ‘हार्ट अटैक के साथ जबड़े और पीठ में भी दर्द महसूस हो सकता है. अगर दर्द नहीं जाता है तो आपको तत्काल एंबुलेंस को कॉल करना चाहिए.’

अनियमित धड़कन – दिल के कमजोर होने का एक और कॉमन संकेत है दिल की धड़कन का अनियमित होना. आप भी अगर अपने दिल की धड़कन को अनियमित महसूस करते हैं तो डॉक्टर से चेकअप कराना जरूरी है.

इसे भी पढ़ें: कहीं आप भी तो नहीं कर रहे जिम में जरूरत से ज्यादा मेहनत? वर्कआउट करने से पहले करवा लें हेल्थ टेस्ट

इस स्थिति में डॉक्टर की लें सलाह

आपको अगर हार्ट फेल के लक्षण या संकेत नजर महसूस हों तो डॉक्टर को दिखाने में बिल्कुल भी कोताही नहीं बरतनी चाहिए. सही समय पर इलाज मिलने से बहुत हद तक स्थिति पर काबू किया जा सकता है. मायोक्लीनिक  के अनुसार इन स्थितियों में डॉक्टर की तत्काल सलाह लें.

– सीने में दर्द.
– बेहोशी या बहुत ज्यादा कमजोरी महसूस होना.
– दिल की धड़कन बढ़ जाना या अनियमित होना.
– अचानक सांस लेने में तकलीफ होना.

जब भी इस तरह के लक्षण महसूस हों तो डॉक्टर को दिखाना चाहिए. हो सकता है कि ये हार्ट फेल होने के लक्षण हों या फिर दिल या फेफड़ों से जुड़ी किसी अन्य गंभीर बीमारी के भी ये संकेत हो सकते हैं.

Tags: Health, Lifestyle

Source link

Gym Freak हैं आमिर खान के होने वाले दामाद नुपुर शिखरे, रणवीर से पहले करा चुके हैं न्यूड फोटोशूट

अब ‘ब्रह्मास्त्र’ को लेकर छिड़ी बहस, लोग बोले गूगल क्रोम की तरह है लुक, हैरान करने वाले हैं तर्क