in

दूध पीने से कतराता है आपका बच्चा? चिंता छोड़िए! ये 4 चीजें दीजिए, देखते ही ललचा जाएगा मन

हाइलाइट्स

सोया मिल्क का सेवन करने से कैल्शियम की कमी को आसानी से पूरा किया जा सकता हैओट मिल्क या बार्ली मिल्क भी दूध के बदले अपने बच्चे को दे सकते हैंएक कप कोकोनट मिल्क से 76 कैलोरी ऊर्जा मिलती है

calcium diet: बच्चों के विकास के लिए दूध सबसे उत्तम आहार माना जाता है. दूध में अत्यधिक मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है जो बच्चे में विकसित हो रहे दांतों और हड्डियों के विकास के लिए जरूरी है. बच्चों की बॉडी में कैल्शियम की कमी होने पर हड्डियां और दांत कमजोर होने लगते हैं. कैल्शियम मांसपेशियों को मजबूत बनाता है. इतना ही नहीं यह नर्व फंक्शन और दिल की धड़कनों को भी कंट्रोल करता है. यही कारण है बच्चों को दूध देना बहुत आवश्यक हो जाता है. आमतौर पर जब बच्चा एक साल का हो जाता है तो उसे बाहर का दूध दिया जाने लगता है. अधिकांश बच्चे गाय या भैंस का दूध पीने लगते हैं लेकिन कुछ बच्चे ऐसे भी होते हैं जो दूध बिल्कुल भी नहीं पीते. उन्हें इसका स्वाद खराब लगता है.
ऐसे में माता-पिता के लिए यह जानना जरूरी है कि अगर बच्चे दूध पीने में आना-कानी करें तो इसकी जगह उनके किस चीज का सेवन बेहतर रहेगा.

इसे भी पढ़ें-इन दवाइयों के इस्तेमाल से पड़ सकते हैं लेने के देने, डॉक्टर ने बताए इनके साइड इफेक्ट

दूध के बदले इन चीजों के मिल्क का करें इस्तेमाल

सोया मिल्क: हेल्दी चिल्ड्रेन के मुताबिक सोया मिल्क का सेवन करने से कैल्शियम की कमी को आसानी से पूरा किया जा सकता है. 100 ग्राम सोयाबीन में 239 मिलीग्राम कैल्शियम पाया जाता है. अगर बच्चा दूध नहीं पीता उसकी सोयाबीन का दूध इस्तेमाल किया जा सकता है. इसमें आयरन और प्रोटीन भी भरपूर होता जो बॉडी को हेल्दी रखता है. 1 कप सोया मिल्क से 105 किलो कैलोरी ऊर्जा मिलती है.

कोकोनट मिल्क– एक कप कोकोनट मिल्क से 76 कैलोरी ऊर्जा मिलती है. इसके अलावा इसमें 0.51 ग्राम प्रोटीन, 5.08 ग्राम टोटल फैट और 7.12 ग्राम कार्बोहाइड्रैट मिलता है. कोकोनट मिल्क में कोलेस्ट्रोल बिल्कुल नहीं होता. इसलिए यह बच्चों में मोटापा भी नहीं लाता है.

बादाम मिल्क-दूध की जगह बच्चों को बादाम का मिल्क दे सकते हैं. इसे पीने में बच्चे को स्वादिष्ट लगेगा और ना-नुकर भी नहीं करेगा. एक कप बादाम मिल्क में 1.44 ग्राम प्रोटीन, 2.88 ग्राम टोटल फैट, 1.42 ग्राम कार्बोहाइड्रैट, 481 मिली ग्राम कैल्शियम और 0.85 मिली ग्राम आइरन मौजूद होता है. अगर कैल्शियम के लिहाज से देखें, तो दूध में भी इतना कैल्शियम नहीं मिलता. बादाम का मिल्क एक साल से ज्यादा बच्चों के विकास के लिए संपूर्ण पोषक आहार बन सकता है.

ओट मिल्क-ओट मिल्क या बार्ली मिल्क भी दूध के बदले अपने बच्चे को दे सकते हैं. एक कप ओट के मिल्क से 130 किलो कैलोरी ऊर्जा मिलती है. इसके अलावा 4 ग्राम प्रोटीन, 2.5 ग्राम टोटल फैट, 24 ग्राम कार्बोहाइड्रैट और 350 मिलीग्राम कैल्शियम मौजूद रहता है.

Tags: Children, Health, Lifestyle

Source link

‘दो जिस्म एक जान नहीं हैं हम’, रणबीर कपूर के साथ रिश्ते पर बोलीं आलिया भट्ट!

Entertainment Top-5 Videos: कार्तिक आर्यन ने फैन से मुलाकात कर जीता दिल, उर्फी जावेद क्लब में डांस करती दिखीं