in

पंद्रह बीस साधू संत हिमालय का पहाड़ चढ़ रहे थे।

पंद्रह बीस साधू संत हिमालय का पहाड़ चढ़ रहे थे।

एक रिपोर्टर ने यूँ ही पूछ लिया “बाबा आप लोग कहाँ जा रहे हो?”

बाबा: “समाधि लेने”

रिपोर्टर “पर क्यों ?”

बाबा : “जबसे whatsapp आया है, बड़े बड़े ज्ञानी पैदा हो गये है…. अब संसार को हमारी जरूरत ही नहीं”

??????

मूस्कराहट का कोई मोल नहीं होता,

दोनो का शुक्रिया दोनों जिंदगी जीना सीखा गए।