in

पेट में रहता है दर्द कहीं स्टमक फ्लू तो नहीं है, ऐसे पाएं इससे छुटकारा

हाइलाइट्स

स्‍टमक फ्लू एक तरह का इंटेस्‍टाइनल इंफेक्‍शन है. वीक इम्‍यूनिटी वाले बनते हैं इसका ज्‍यादा शिकार. अधिक लिक्विड डाइट से मिलता है आराम.

Home Remedies For Stomach Flu-  पेट में हमेशा रहने वाला दर्द स्‍टमक फ्लू की वजह से भी हो सकता है. स्‍टमक फ्लू एक तरह के वायरल गैस्‍ट्रोएंटेराइटिस की वजह से होता है जो एक इंस्‍टेटाइनल इंफेक्‍शन होता है. जिनकी इम्‍यूनिटी वीक होती है वो इस फ्लू का शिकार सबसे पहले और सबसे ज्‍यादा होते हैं. बच्चों और अधिक उम्र के लोगों में इसके होने का खतरा ज्‍यादा होता है. इसके शुरुआती लक्षण हैं ठंड लगना, बुखार आना और जी मचलाना. बाद में ये लक्षण गंभीर होकर वोमेटिंग, डायरिया और तेज दर्द में बदल जाते हैं. स्‍टमक फ्लू में विशेष डाइट लेने की आवश्‍यकता होती है. स्‍टमक फ्लू की समस्‍या को घरेलू इलाज द्वारा ठीक किया जा सकता है. तो चलिए जानते हैं क्‍या हैं स्‍टमक फ्लू से निपटने के घरेलू उपाय.

लिक्वि‍ड की मात्रा बढ़ाएं
हेल्‍थलाइन के अनुसार पसीने, उल्‍टी और दस्‍त की वजह से शरीर में महत्‍वपूर्ण तरल पदार्थ की कमी हो सकती है. ऐसे में अत्यधिक मात्रा में लिक्विड लेना जरूरी होता है. पीने के लिए सबसे अच्‍छे तरल पदार्थ में पानी, ओआरएस घोल, कोकोनट वाटर, स्‍पोर्ट्स ड्रिंक्‍स, जिंजर और पिपरमिंट टी शामिल हैं. स्‍टमक फ्लू होने पर कॉफी, स्‍ट्रांग ब्‍लैक टी और अल्‍कोहल को अवॉइड करना चाहिए.

करें ब्रैट डाइट का सेवन
स्‍टमक फ्लू में कुछ भी खाना मुश्किल हो सकता है. अगर खाना खाने से दर्द हो रहा है तो जबरदस्‍ती खाना न खाएं. जब बेहतर लगे तब धीरे धीरे और सिम्‍पल फूड से शुरुआत की जा सकती है. इसके लिए ब्रैट डाइट सबसे बढ़िया होती है. इसमें बनाना, राइस, एप्‍पलसॉस और टोस्‍ट शामिल होते हैं. ये चार फूड आसानी से डाइजेस्‍ट हो जाते हैं. इनमें कार्बोहाइड्रेट्स की मात्रा अधिक होती है जो एनर्जी देती है और ये पोषक तत्‍वों की कमी को भी दूर करते हैं. डेयरी प्रोडक्‍ट्स, फाइबर, चिकनाई और मसालेदार भोजन से परहेज करना चाहिए.

यह भी पढ़ेंः हार्ट की सर्जरी के बाद जिम खतरनाक ! भूलकर भी न करें ये गलतियां 

अच्‍छे से आराम करें
स्‍टमक फ्लू होने पर बॉडी को इनफेक्‍शन से लड़ने के लिए पर्याप्‍त रेस्‍ट की जरूरत होती है. स्‍टमक अपसेट होने पर पर्याप्‍त नींद लें और सामान्‍य स्थिति में की जाने वाली डेली एक्टिविटी को कम कर दें. आराम करने से बॉडी को इंफेक्‍शन से लड़ने में मदद मिलती है. साथ ही सेल्‍यूलर लेवल पर होने वाले डेमेज को रिपेयर करती है.

इसे भी पढ़ें: माइग्रेन के असहनीय दर्द से चाहते हैं तुरंत आराम, अपनाएं ये घरेलू उपाय

Tags: Flu, Health, Lifestyle

Source link

समाज को झकझोर देगी फिल्म ‘बाल नरेन’ की कहानी, रिलीज हो गया पोस्टर

आलिया भट्ट और रणबीर कपूर में हुई बहस…? जानिए आखिर क्या है इसके पीछे की वजह