in

प्रकृति से दूर रहने पर बन जाएंगे दिमागी मरीज ! शहरों की चमक-धमक ‘खतरनाक’

हाइलाइट्स

शहरों में लोग प्रकृति से कट जाते हैं और मेंटल हेल्थ पर बुरा असर पड़ता है.प्रकृति के करीब रहने से लोगों की मेंटल और फिजिकल हेल्थ इंप्रूव होती है.

Walk Through Nature Lowers Stress: आज के दौर में हर कोई शहरों की तरफ भाग रहा है. सिटी लाइफ की रौनक हर किसी को अपनी तरफ खींच रही है. शहरों में अब अधिकतर जगहों पर बड़ी-बड़ी बिल्डिंग नजर आती हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि शहरों की चमक-धमक वाली जिंदगी मेंटल हेल्थ के लिए बेहद खतरनाक साबित हो रही है. यहां की भागदौड़ आपको दिमागी मरीज बना रही है. दूसरी तरफ जो लोग प्रकृति के करीब हैं, उनकी मेंटल हेल्थ शहरी लोगों की अपेक्षा बेहतर है. एक हालिया स्टडी में खुलासा हुआ है कि हर दिन 60 मिनट प्राकृतिक जगहों पर वॉक करने से मेंटल हेल्थ में काफी सुधार होता है और तनाव घटता है. स्टडी में कई चौंकाने वाली बातें सामने आई हैं.

यह भी पढ़ेंः आर्टिफिशियल स्वीटनर्स बन सकते हैं हार्ट अटैक की वजह? जानें सच्चाई

शहरों में मेंटल प्रॉब्लम्स का खतरा ज्यादा?
अब तक कई स्टडी में यह बात सामने आ चुकी कि शहरी इलाकों में रहने वाले लोग ग्रामीण इलाकों की अपेक्षा मेंटल इलनेस और डिसऑर्डर का शिकार ज्यादा होते हैं. मेडिकल न्यूज़ टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक शहरों में लोग प्रकृति से कट जाते हैं और इसकी वजह से उनकी मेंटल हेल्थ पर बुरा असर पड़ता है. जो लोग प्रकृति के करीब रहते हैं, उनकी मेंटल और फिजिकल हेल्थ बेहतर रहती है. हमारे पर्यावरण का स्वास्थ्य पर गहरा असर होता है. अन्य रिसर्च में यह बात सामने आई थी कि शहरों में रहने वाले लोगों के ब्रेन के अमाइडला (amygdala) एरिया में एक्टिविटी बढ़ जाती है. इस हिस्से से ब्रेन इमोशंस, डर और स्ट्रेस को रेगुलेट करता है. इस हिस्से की एक्टिविटी बढ़ने से मेंटल हेल्थ पर काफी असर पड़ता है.

नई स्टडी में हुआ यह खुलासा
एक हालिया स्टडी में खुलासा हुआ है कि जंगल या अन्य प्राकृतिक जगहों पर 60 मिनट तक वॉक करने से स्ट्रेस काफी कम हो जाता है और मेंटल हेल्थ इंप्रूव होती है. शोधकर्ताओं ने इस स्टडी में शामिल कुछ लोगों को जंगल में वॉक करने के लिए भेजा जबकि कुछ लोगों को शहर की भागदौड़ भरी गलियों में भेजा. इसके निष्कर्ष में पता चला कि जो लोग प्रकृति के आसपास वॉक कर रहे थे, उनका स्ट्रेस लेवल काफी कम हो गया, जबकि शहरों में वॉक करने वाले लोगों के स्ट्रेस लेवल में कोई बदलाव नहीं हुआ. शोधकर्ताओं का कहना है कि प्राकृतिक चीजें मेंटल हेल्थ के लिए फायदेमंद होती हैं और तनाव को कम करने में कारगर साबित हो सकती हैं.

यह भी पढ़ेंः हाई ब्लड प्रेशर की वजह से कम उम्र में हड्डियों की गंभीर बीमारी का खतरा

Tags: Health, Lifestyle, Mental health, Nature, Trending news

Source link

जानिए 90 के दशक की उन 5 मशहूर एक्ट्रेस के बारे में… जो आज लाइमलाइट से हैं दूर

निशा रावल ने करण मेहरा पर लगाए विक्टिम कार्ड खेलने के आरोप, बोलीं- ‘मुझे अपने बच्चे के लिए डर लग रहा है’