in

प्रीमैच्‍योर बेबीज़ की सही ग्रोथ के लिए जरूरी हैं ये बातें, तभी वे होंगे हेल्‍दी और एक्टिव

हाइलाइट्स

सही देखभाल से प्रीमैच्‍योर बच्‍चे का शारीरिक और मानसिक सेहत तेजी से अच्‍छा होता है. डॉक्‍टर के संपर्क में रहें और उनकी बताई गई सलाह पर ही बच्‍चे की परवरिश करें.

How to take care premature baby: प्रेग्‍नेंसी में किसी तरह के कॉम्‍पलीकेशन की वजह से कई बच्‍चे अपने निर्धारित समय से पहले ही जन्‍म ले लेते हैं जिन्‍हे प्रीमेच्‍योर बेबीज़ कहा जाता है. इन बच्‍चों को ग्रोथ नॉर्मल न्‍यू बॉर्न की तुलना में कम होता है और सही देखभाल के साथ ही वे सेहतमंद हो पाते हैं. इन बच्‍चों को खास देखभाल की जरूरत पड़ती है. सही देखभाल से इनका शारीरिक और मानसिक सेहत तेजी से हो सकता है. किड्स हेल्‍थ के मुताबिक, एनआइसीयू से जब आपका प्रीमैच्‍योर बच्‍चा घर आता है तो उसे खास देखभाल की जरूरत पड़ती है.  सही देखभाल से वे कुछ ही  हफ्ते में मजबूत और एक्टिव हो जाते हैं. तो आइए आज हम बताते हैं कि प्रीमैच्‍योर बच्‍चों के सही ग्रोथ के लिए हमें क्‍या क्‍या करने की जरूरत होती है.

रहें डॉक्‍टर के संपर्क में
जब आपका बेबी घर आ जाए तो भी आप लगातार अपने डॉक्‍टर के संपर्क में रहें और डॉक्‍टर के बताए सलाह पर ही बच्‍चे की परवरिश करें. किसी तरह की दिक्‍कत आने पर डॉक्‍टर के पास जाएं.

सफाई का रखें ध्यान
प्रीमेच्‍योर न्‍यू बॉर्न को आसानी से इंफेक्‍शन हो सकता है. इसलिए आसपास साफ-सफाई का ख्‍याल अधिक रखें. उन्‍हें समय समय पर क्‍लीन करते रहें और उनका बेड भी साफ करते रहें. डाइपर या नैपी हमेशा क्‍लीन रखें. गन्‍दे हाथ से उन्‍हें ना उठाएं.

ये भी पढ़ें: बच्चों का आईक्यू लेवल बूस्ट करने के लिए आजमाएं ये टिप्स

सही तापमान जरूरी
इन बच्‍चों को सही तापमान में रखना जरूरी है. ध्‍यान रखें क‍ि वातावरण आरामदायक हो. श‍िशु को ना तो अधिक गर्म या अधिक ठंड में रखें. आप उन्‍हें सीधे पंखे या कूलर के नीचे न रखें.

कंगारू मदर केयर थैरेपी
यह एक मदर केयर टेक्‍नीक है जिसमें बच्‍चे को शरीर की गरमी की मदद से हेल्‍दी रखा जाता है. ऐसा करने से उसका वजन बढ़ाने में मदद मिलती है. ऐसा श‍िशु की मां के अलावा पिता भी कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: बच्चों की एकाग्रता बढ़ाने के लिए आजमाएं ये तरीके, पढ़ते समय नहीं भटकेगा ध्यान

जरूरी है स्‍तनपान
प्रीमेच्‍योर बच्‍चों के लिए मां का दूध बेस्‍ट फूड है जिसमें सभी जरूरी पोषक तत्व होते हैं. ये शिशु के विकास में मदद करता है. इससे बच्‍चा बीमार नहीं पड़ता, उसका वजन बढ़ने के ल‍िए भी स्‍तनपान जरूरी होता है.

Tags: Baby Care, Lifestyle, Parenting

Source link

अनुष्का शर्मा ने बेटी वामिका के साथ की कोलकाता की सैर, PHOTOS में दिखाई ट्रिप की झलकियां

Samantha Prabhu Health Issue: सामंथा रुथ प्रभु को हुई ये खतरनाक बीमारी फोटो शेयर कर बयां किया दर्द