in

बच्चे को ज़रूर सिखाएं ट्रैवल मैनर्स, ताकि सफर हो आसान और खुशनुमा

हाइलाइट्स

बच्चे को सेफ्टी टिप्स के बारे में ज़रूर बताएं. यात्रा शुरू होने से पहले उन्हें क्या करें, क्या न करें जैसी बातें बता दें. बच्चे को बताएं की ट्रैवल करने के दौरान कूड़ा यहां वहां न फेंके.

parenting tips: बच्चों को घर पर रहने और रिश्तेदारों या स्कूल में रहने के दौरान किस तरह रहना है, ये बातें सिखाई जाती हैं, लेकिन ज़्यादातर पेरेंट्स का ध्यान इन बातों पर नहीं जाता है कि बच्चों को ट्रैवल मैनर्स सिखाना भी बेहद ज़रूरी है. सफर करने के दौरान अगर बच्चों को मैनर्स नहीं सिखाया गया, तो कई बार वे प्रॉब्लम में फंस सकते हैं.

अपने बच्चे को ट्रैवल मैनर्स सिखाने का फायदा यह होता है कि कभी उन्हें घर के किसी और सदस्य के साथ भी ट्रैवल करना पड़ा, तो न बच्चे को समस्या होगी, न ही उन्हें साथ ले जाने वाले रिश्तेदारों को.आइए जानते हैं अपने बच्चों को सफर कौन से मैनर्स सिखाना बेहद ज़रूरी है.

ये भी पढ़ें: तेज धूप में बच्चों की सॉफ्ट स्किन पर हो जाते हैं रैशेज, जलन, इस तरह करें बेबी स्किन को प्रोटेक्‍ट

बच्चे को सिखाए कूड़ा बाहर न फेंके –  बच्चे को बताएं की ट्रैवल करने के दौरान कूड़ा यहां वहां न फेंके. इसे किसी  पॉलिथीन या बैग में इकट्ठा कर लें और डस्टबिन में ही फेंकें. ट्रैवल करने से जुड़ी ये ज़रूरी स्टेप बच्चे को बचपन से ही सिखानी ज़रूरी है.

सेफ्टी टिप्स के बारे में बताएं – बच्चे को सेफ्टी टिप्स के बारे में ज़रूर बताएं. यात्रा शुरू होने से पहले उन्हें क्या करें, क्या न करें जैसी बातें बता दें. इसके अलावा सफर में अकेले न रहने, किसी का दिया कुछ न खाने जैसी हिदायत बच्चों को घर से निकलने से पहले ही दे दें.

ये भी पढ़ें: चाहते हैं कि बच्चों का बढ़े वजन, तो उनकी डाइट में शामिल करें ये चीजें

साथ में यात्रा करने वालों का ध्यान रखें – बच्चे को यह ज़रूर बताएं कि वे साथ में यात्रा करने वाले लोगों का ध्यान रखें. शोर न मचाएं, बदमाशी न करें और किसी बुज़ुर्ग को ज़रूरत महसूस हो, तो उनकी मदद करें.

सवाल पूछे परेशान न करें – यात्रा के दौरान बच्चे के मन में बहुत सी जिज्ञासा होती है, जिसे वो सवाल पूछकर शांत करना चाहते हैं. बच्चे को बताएं कि अपनी किसी भी जिज्ञासा के लिए सवाल पूछे, लेकिन को-ट्रैवलर्स को परेशान न करें.

बच्चे को सिखाए ज़िद न करें – बच्चे घर पर ज़िद करते हैं और उन्हें इसकी आदत हो जाती है. इसकी वजह से वे जहां भी जाते हैं, ज़िद करने की आदत नहीं छोड़ते हैं.  बच्चे को यात्रा पर ले जाने से पहले यह समझा दें कि वे बाहर फ्लेक्सिबल रहें और किसी भी चीज़ न करें.

Tags: Lifestyle, Parenting

Source link

मुश्किलों में पड़े कॉमेडियन वीर दास, मुंबई पुलिस ने दर्ज की FIR, पढ़िए क्या है पूरा मामला

SAIL ने 245 पदों पर निकाली भर्ती, जानें योग्यता सहित अन्य बातें | sail management trainee recruitment 2022, government jobs