in

बच्‍चों को समझदार बनाना चाहते हैं तो पैरेंट्स न करें ये गलतियां, खुशहाल रहेगी जिंदगी

हाइलाइट्स

पैरेंट्स को अपने बच्चों की तुलना दूसरे बच्चों से नहीं करनी चाहिए.बच्चों के सामने पैरेंट्स को कभी भी कोई गलत काम नहीं करना चाहिए.

How To Make Children Intelligent: हर दंपती के लिए पैरेंट बनना एक खूबसूरत सपना होता है. पैरेंट्स अपने बच्‍चों से अपने सपनों को पूरा करना चाहते हैं. दूसरी तरफ पैरेंट्स बनने के लिए खुद में भी कुछ बदलाव लाना जरूरी है. कई पैरेंट्स बच्‍चों को समझदार बनाने के लिए उनके साथ सख्‍ती से पेश आते हैं और नकारात्‍मक तरीके से उनकी परवरिश करने लगते हैं. आपको बता दें कि बच्‍चों को समझदार बनाने के लिए आपको भी समझदारी से काम लेना होगा और पैरेंटिंग के लिए कुछ गलतियों को करने से रुकना होगा. तभी आप बेहतर परवरिश दे पाएंगे. हम आपको बता रहे हैं कि आप एक अच्छे पैरेंट्स बनने के लिए किन गलतियों को करना छोड़ दें.

हर वक्‍त कोसना
माता पिता बनने के एहसास से खूबसूरत कोई एहसास नहीं हो सकता. यह हर किसी की जिंदगी में किसी तोहफे की तरह होता है. ऐसे में आप खुद को खुशकिस्‍मत समझें और तोहफे की तरह अपने बच्‍चों को समझें. उन्‍हें हर वक्‍त कोसने के बजाय यह एहसास दिलाएं कि आपके लिए वे कितने खास हैं.

ये भी पढ़ें: बच्चों की इम्यूनिटी को स्‍ट्रॉन्‍ग रखने के लिए डाइट में शामिल करें ये चीज़ें

तुलना करना
अगर आप बात बात पर अपने बच्‍चे की तुलना उसके भाई बहन या दोस्‍तों के साथ करते हैं तो ये उनके लिए जुल्‍म है. आप उनके पसंद नापसंद को स्‍वीकारें और उनकी समस्‍याओं का हल निकालने में उनकी मदद करें.

कड़ी सजा देना
बच्‍चों की गलतियों पर सजा मिलना सामान्‍य बात है लेकिन उनके साथ शारीरिक या मानसिक प्रताड़ना देना गलत है. मारपीट करना उन्‍हें हिंसक बना सकता है.

ये भी पढ़ें: कैसे रखें बच्चों की आंखों का ख्याल? अपनाएं ये तरीके

व्‍यवहारिक तरीका अपनाएं
आप अगर बच्‍चे को डांटकर या मार कर कुछ सिखाने का प्रयास कर रहे है तो उन्‍हें समझ नहीं आएगी. बेहतर होगा कि आप व्‍यवहारिक तरीका अपनाएं और उनसे बातचीत कर समझाएं.

उम्र को अहमियत ना देना
बच्‍चों को आप उनकी उम्र के लिहाज से ही सिखाएं और उम्‍मीद रखें. अगर वे बहुत छोटे हैं तो ये उम्‍मीद ना करें कि वे आपके डाटने पर दोबारा ऐसा काम नहीं करेंगे. वहीं बड़ी टीनएजर बच्‍चों को आप मारपीट कर या डांट कर काम नहीं निकलवा सकते.

दूसरों की सलाह पर पैरेंटिंग
जब आप माता पिता बन जाते हैं तो दुनियाभर के लोग आपको सलाह देते हैं. लेकिन इस बात को ध्‍यान रखें कि हर बच्‍चा अलग होता है और हर बच्‍चे की परवरिश और परिवेश भी अलग होता है. ऐसे में अपने समझबूझ से उनकी परवरिश करें.

खुद गलत काम करना
अगर आप बच्‍चे को मोबाइल देखने से मना कर रहे हैं और दिनभर खुद मोबाइल में नजर गडाए हैं तो ऐसा करने से बच्‍चे आपकी बात नहीं मानेंगे. बेहतर होगा अगर आप खुद उनके आदर्श बनें. आप जैसा काम करेंगे बच्‍चे भी सीखेंगे.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Lifestyle, Parenting, Parenting tips

Source link

Bollywood के बुरे दौर पर बोले जूनियर एनटीआर, दबाव अच्छा और स्वीकारें चुनौती; Brahmastra को लेकर कही बड़ी बात

शिल्पा शेट्टी ने धूमधाम से किया गणपति बप्पा का विसर्जन, फ्रैक्चर होने पर भी उत्साह में नहीं दिखी कमी