in

बच्चों में हाई कोलेस्ट्रॉल के कारण और रिस्क फैक्टर्स जानकर करें लाइफस्टाइल में ये 5 बदलाव

हाइलाइट्स

बच्चों में हेल्दी वेट मेंटेन करें और एक्स्ट्रा फैट बढ़ने से रोकें. हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल से बचने के लिए बच्चों को रेगुलर एक्सरसाइज कराएं. बच्चों में हाई कोलेस्ट्रॉल होने पर मिल्क प्रोडक्ट्स का सेवन ना करने दें.

 Tips to Improve Cholesterol Level in Children : हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल हेल्दी बॉडी का सबसे बड़ा दुश्मन है. अफसोस की बात ये है की आज ये एक आम समस्या बन चुकी है. हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल ब्लड फ्लो से लेकर बॉडी वेट तक बॉडी के अलग-अलग एस्पेक्ट्स को प्रभावित करता है. कोलेस्ट्रॉल बढ़ना जितना आम है उतना ही नुकसानदायक भी है. कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ना किसी उम्र से नहीं बंधा. हर उम्र के लोगों में ये परेशानी देखी जा सकती है. यहां तक की बच्चे भी इस परेशानी से अछूते नहीं हैं. जेनेटिक कारणों से हो या अनहेल्दी फूड की वजह से, बच्चों में ये परेशानी कई गंभीर बीमारियों की वजह बन सकती है. बच्चों का ज्यादा वजन या हाई कोलेस्ट्रॉल से जूझते पैरेंट्स उन्हें इस समस्या के करीब ले आते हैं. ऐसे में बच्चों के लिए भी नियमित कोलेस्ट्रॉल चेकअप ज़रूरी हो जाता है. आइए जानते हैं, कैसे कुछ छोटे लाइफस्टाइल चेंजेस बच्चों में हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या का समाधान कर सकते हैं.

बच्चों में हाई कोलेस्ट्रॉल के रिस्क जानकर बचाव करें

– क्लीवलैंडक्लिनिक डॉट ओआरजी के अनुसार, बच्चों की डाइट में हाई फैट और कोलेस्ट्रॉल वाले फूड आइटम रखने से बचें. बच्चे को जितना हो सके अनसैचुरेटेड फैट वाले फ़ूड आइटम्स दें और टोटल फैट कभी भी कैलोरीज़ के 30% से ऊपर ना जाने दें.

– हेल्दी वेट मेंटेन करने से बॉडी का एक्स्ट्रा फैट बर्न हो जाता है और बॉडी को ज़रूरी न्यूट्रिएंट्स भी मिल पाते हैं. ऐसे में कोलेस्ट्रॉल लेवल नियंत्रित करना आसान हो जाता है.
– रनिंग, जॉगिंग और स्विमिंग जैसी एक्सरसाइज बॉडी में गुड कोलेस्ट्रॉल लेवल को बढ़ाती हैं, जिससे बैड कोलेस्ट्रॉल का लेवल कंट्रोल में आ जाता है और हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या खत्म हो जाती है.
– डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन कम कर दें, ये बॉडी वेट को बढ़ाने वाले फैट के अच्छे सोर्स हैं. रिसर्चेस में भी यही बात समझायी गई है की बचपन से कोलेस्ट्रॉल लेवल में गड़बड़ी आगे चलकर बड़ी समस्या बन सकती है. खासकर घर के सदस्यों को ऐसी परेशानी होने की स्थिति में तो फैट वाले डेयरी प्रोडक्ट्स से दूरी ही बना लें.
– बच्चों को बेहतर ग्रोथ के लिए एनर्जी और न्यूट्रिशन भी चाहिए होते हैं, जिसके लिए उन्हें अच्छी फैट फ्री डाइट का सेवन करना चाहिए. खाने में फ्रूट्स, वेजिटेबल्स, बीन्स, सूप, ऑलिव ऑयल और पीनट ऑयल का उपयोग किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें: नींद ना आने से हैं परेशान? अपनाएं ये आयुर्वेदिक घरेलू उपाय, होगा फायदा

ये भी पढ़ें: देर रात को भूख लग जाती है? इन फूड्स को खाने से मिलेगा पोषण

Tags: Health, Lifestyle

Source link

OTT पर ‘ब्रह्मास्त्र’ देखने के लिए हैं एक्साइटेड? तो रणबीर कपूर ने जो कहा है, उसे भी पढ़ लीजिए

राम चरण और जूनियर एनटीआर की ‘RRR’ ने जापान में रचा इतिहास, इस मामले में तोड़ा सबका रिकॉर्ड