in

बाहर के खाने से बढ़ रही है फूड पॉइजनिंग, ऐसे रखें खुद को सुरक्षित

हाइलाइट्स

बारिश होने पर बाहर के खाने को अवॉइड करना चाहिए. फूड पॉइजनिंग से बचने के लिए ज़रूरी है फ्रेश खाने का सेवन करना.फूड पॉइजनिंग में डेयरी प्रोडक्‍ट के सेवन से बचें.

Prevention From Food Poisoning-  बाहर के मसालेदार और स्‍वादिष्‍ट फूड आइटम्‍स सभी को बेहद पसंद होते हैं, लेकिन बाहर का खाना कई बार सेहत पर बुरा असर भी डाल सकता है. खासकर बरसात के मौसम में बाहर का खाना खाने से फूड पॉइजनिंग की समस्‍या हो जाती है. बरसात के मौसम में सबसे ज्‍यादा फूड पॉइजनिंग होने का खतरा रहता है. इस मौसम में वातावरण में नमी की वजह से बाहर के खाने में बैक्‍टीरिया तेजी से फैलने लगते हैं, जो खाने में बैक्‍टीरियल इंफेक्‍शन को बढ़ा देते हैं. कई बार बासी खाने के सेवन से भी फूड पॉइजनिंग की समस्‍या हो जाती है. फूड पॉइजनिंग की समस्‍या से बचने के लिए ज़रूरी है कि उन चीजों का सेवन किया जाए जो फ्रेश और कम तेल चिकनाई वाली हों. चलिए जानते हैं बरसात के मौसम में फूड पॉ‍इजनिंग होने से कैसे बचा जा सकता है.

क्‍यों होती है फूड पॉइजनिंग?
फूडबॉर्न इलनेस जिसे फूड पॉइजनिंग के नाम से जाना जाता है. ये खराब, दूषित और पॉइजनस फूड की वज‍ह से होती है. हेल्‍थलाइन के अनुसार, फूड पॉइजनिंग बरसात के मौसम में बाहर का दूषित खाना खाने के कारण हो सकती है. कई बार फूड पॉइजनिंग बासी खाने की वजह से भी हो जाती है. ऐसे खाने में बै‍क्‍टीरिया आसानी से पैदा हो जाते हैं. फूड पॉइजनिंग दूषित पानी के कारण भी हो सकती है. इसमें उल्‍टी, मितली, पेट दर्द और लूजमोशन जैसे लक्षण शामिल हैं. फूड पॉइजनिंग के दौरान शरीर काफी कमजोर और शिथिल हो जाता है.

कच्‍चा खाना न खाएं
फूड पॉइजनिंग से बचने के लिए जरूरी है कि हमेशा पूरी तरह से पका हुआ खाना ही खाएं. बरसात के मौसम में बाहर का खाना खराब होने का कारण है उसका पूरी तरह से पका हुआ न होना. स्‍ट्रीट फूड या बाहर के खाने को जल्‍दी सर्व करने के चक्‍कर में कम पकाया जाता है. कई बार सब्‍जी या रोटी कच्‍ची होती है. जो पेट में जाकर इंफेक्‍शन का कारण बन जाती है. बरसात के मौसम में कच्‍चा खाना खाने से बचना चाहिए.

सब्‍जी और फल धोकर करें इस्तेमाल
बरसात के मौसम में वातावरण में नमी अधिक होती है जो खाने को खराब कर सकती है. स्‍ट्रीट फूड वेंडर्स कई बार फल और सब्जियां बिना धुले ही इस्‍तेमाल कर लेते हैं जिसका सेवन करने से पेट में इंफेक्‍शन तेजी से फैलता है और फूड पॉइजनिंग का कारण बन सकता है. बरसात में फल व सब्जियों को हमेशा धोकर ही प्रयोग करना चाहिए.

इसे भी पढ़ें: भोजन करने के तुरंत बाद होने लगता है पेट में दर्द, हो सकते हैं ये कारण जिम्मेदार

हाथों को सैनिटाइज करें
फूड पॉइजनिंग सिर्फ कच्‍चा या खराब खाना खाने से ही नहीं होती है बल्कि हाथों में मौजूद बैक्‍टीरिया भी इसके लिए जिम्‍मेदार हो सकते हैं. खाना खाने से पहले हाथों को धोना या सैनेटाइज करना बेहद जरूरी होता है. हाथों में कई ऐसे बैक्‍टीरिया होते हैं जो भले ही दिखाई न दें लेकिन वे स्‍वास्‍थ पर बुरा प्रभाव डाल सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: पेट दर्द में बड़े काम आएंगे ये घरेलू उपचार

डेयरी प्रोडक्‍ट खाने से बचें
बरसात के मौसम में डेयरी प्रोडक्‍ट पेट खराब कर सकते हैं. डेयरी प्रोडक्‍ट जैसे- दूध,  पनीर और छाछ में बहुत तेजी से बैक्‍टीरिया फैलता है. पुराने या रखे हुए दूध में बैक्‍टीरिया जल्‍दी अटैक करते हैं इसलिए फ्रेश दूध, पनीर या दही का प्रयोग करें. हो सके तो कुछ दिनों के लिए डेयरी प्रोडक्‍ट का सेवन न करें.

फूड पॉइजनिंग के लक्षण
–  डायरिया
–  उल्‍टी आना
–  पेट में दर्द
–  कमजोरी
–  चक्‍कर आना
–  लूजमोशन होना

Tags: Health, Lifestyle, Rainy Season, Street Food

Source link

Ponniyin Selvan: मणिरत्नम नहीं चाहते थे ऐश्वर्या राय और तृषा को साथ रखना, एक्ट्रेस ने खुद किया खुलासा

Priyanka Chopra at UNGA: संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रियंका चोपड़ा ने दी जबरदस्त स्पीच पढ़िए क्या कहा बॉलीवुड एक्ट्रेस ने