in

ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने में कारगर है सुखासन, जानें अन्य हेल्थ बेनिफिट्स

हाइलाइट्स

सुखासन का अभ्यास करने से पहले कुछ आसान एक्सरसाइज कर सकते हैं. एंजाइटी और स्ट्रेस से बचने के लिए नियमित सुखासन का अभ्यास करें.

Health Benefits for Sukhasana : स्वस्थ शरीर और सुखी जीवन जीने के लिए योग और एक्सरसाइज करना कितना जरूरी है, ये हम सभी जानते हैं. बीते कुछ सालों में पूरी दुनिया योग के प्रति काफी जागरूक हुई है और आजकल अधिकतर लोग सेहतमंद रहने के लिए योग और एक्सरसाइज का सहारा ले रहे हैं. योग में हर बीमारी से जुड़ी कई विशेष योग क्रियाएं और योगासन मौजूद हैं. आज हम आपको एक ऐसी ही योग क्रिया “सुखासन” के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके नियमित अभ्यास से कई स्वास्थ्य लाभ प्राप्त किए जा सकते हैं. सुखासन का अभ्यास करना बेहद आसान है, जिससे बच्चे और बड़े सभी कर सकते हैं. सुखासन का अभ्यास हर सुबह करने से आप दिनभर स्ट्रेस फ्री और एक्टिव महसूस करते हैं. आइए जानते हैं, सुखासन का नियमित अभ्यास करने से होने वाले स्वास्थ्य लाभ.

यह भी पढ़ें – सफाई के बाद भी आती है बाथरूम से बदबू तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

सुखासन के हेल्थ बेनिफिट्स
ओनली माय हेल्थ डॉट कॉम के अनुसार नियमित सुखासन का अभ्यास करने से ब्रेन की कंसंट्रेशन पावर बढ़ती है. सुखासन स्पाइन को बेहतर करने के साथ-साथ झुके हुए कंधों को ठीक कर बॉडी का पोस्चर सुधारने में सहायक है. सुखासन स्ट्रेस और एंजाइटी की समस्या से दूर करने में कारगर है. सुखासन का नियमित अभ्यास करने से मोटापा कम होता है और बॉडी फैट से छुटकारा मिलता है. सुखासन बॉडी की स्टेबिलिटी मजबूत बनाने में सहायक है. फोकस को बेहतर करने के साथ लंबे समय तक अटेंटिव और एक्टिव रहने में मदद करता है.

यह भी पढ़ें – बार-बार खराब हो जाती है बैग या कपड़े की ज़िप तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

बच्चों की बढ़ती है हाइट
सुखासन स्पाइन और बैक मसल्स को मजबूती देने के साथ-साथ ब्लड सर्कुलेशन को इंप्रूव करता है. सुखासन का नियमित अभ्यास करने से बच्चों की हाइट बढ़ती है और बॉडी फ्लैक्सिबल रहती है. सुखासन से ब्लड फ्लो सही रहता है जिससे डाइजेशन बेहतर होता है.

सुखासन करने का सही तरीका 
– सबसे पहले योगा मैट पर सीधे अपने दोनों पैरों को आगे की तरफ मोड़ कर बैठ जाएं.
– सीधे बैठने के बाद अपने दाएं पैर को बाएं पैर पर बैंड करके कंफर्टेबल होकर बैठ जाएं और ध्यान रखें कि आपके पैरों के पंजे जमीन पर टीके हो.
– बैठने के बाद हाथों से ध्यान मुद्रा बनाकर पैरों पर टिकाकर बैठें और इसी पोजीशन में अपने कंधों को रिलैक्स कर आंखें बंद करके बैठ जाएं.
– सुखासन पोजीशन में रिलैक्स होकर बैठे और ध्यान लगाकर लंबी गहरी सांसे लें.
– कुछ देर अभ्यास करने के बाद अपने पैर की पोजीशन को इंटरचेंज करते रहें.

Tags: Benefits of yoga, Health, Lifestyle, Yoga

Source link

टीवी की पार्वती की भोजपुरी में एंट्री, पवन सिंह के साथ इस छठ गीत में धमाल मचाएगी एक्ट्रेस, जारी हुआ पोस्टर

Diwali Celebration: दिवाली पार्टी में श्रिया सरन ने पति संग किया लिपलॉक तो लोगों ने किए ऐसे सवाल