in

रनिंग या जंपिंग रोप, वजन घटाने में कौन सा तरीका रहेगा बेहतर, जानें एक्सपर्ट की राय

Best way to lose weight: मोटापा दुनिया के लिए परेशानी का सबब है. डब्ल्यूएचओ (WHO) के मुताबिक पूरी दुनिया में 1.9 अरब लोग मोटापे के शिकार हैं. इनमें से 40 लाख लोग हर साल मोटापे के कारण समय से पहले मर जाते हैं. मोटापा डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, हार्ट डिजीज जैसी लाइफस्टाइल से संबंधित बीमारियों की प्रमुख वजह है. यही कारण है कि लोग मोटापे को कम करने के लिए दिन रात चिंता में डूबे रहते हैं. मोटापे को कम करने का सबसे आसान तरीका है रनिंग (Running) यानी दौड़ना या रस्सी कूदना (jumping rope). मोटापा कम करने के लिए ये दोनों तरीकें बेहद आसान, बिना खर्चा वाले और असरदार है. अब सवाल उठता है कि मोटापा कम करने के लिए सबसे बेहतर तरीका कौन सा है- दौड़ना या फिर रस्सी कूदना. इंडियन एक्सप्रेस की खबर में लाइफस्टाइल और फिटनेस एक्सपर्ट मयूर घारत (Mayur Gharat) ने इस सवाल का जवाब दिया है.

घारत बताते हैं, हम सब जानते हैं कि हमारी बॉडी अलग-अलग होती है. इनके लिए अलग-अलग चीजों की जरूरत होती है. जहां तक मोटापा कम करने के लिए रनिंग या जंपिंग रोप की बात है, तो ये दोनों तरीकें बेहतर, कारगर और असरदार हैं. दोनों से बॉडी में सहन शक्ति की क्षमता बढ़ती है. साथ ही हार्ट के मसल्स मजबूत होते हैं और वेट तथा बोन डेंसिटी मेनटेंन रहती है. ये दोनों एक्सरसाइज उम्र को बढ़ाती है और ऑवरऑल फिटनेस को दुरुस्त रखती है. हालांकि दोनों के अपने-अपने नफा और नुकसान है.

ये भी पढ़ेंः रनिंग या जंपिंग रोप, वजन घटाने में कौन सा तरीका रहेगा बेहतर, जानें एक्सपर्ट की राय

रनिंग और जंपिंग रोप के फायदे

जंपिंग रोप
अगर आप जल्दी में कैलोरी को घटाना चाहते हैं, तो जंपिंग रोप आपके लिए बेहतर ऑप्शन है. एक मिनट के रनिंग में 10 से 16 कैलोरी तक एनर्जी बर्न होती है. अगर आप जंपिंग रोप के 3 मिनट से लेकर 10-10 मिनट का सेट करते हैं, तो आधे घंटे की जंपिंग रोप में 480 कैलोरी एनर्जी बर्न हो सकती है. तेजी से वजन घटाने के लिए जंपिंग रोप ज्यादा बेहतर है. खासकर इससे पेट की चर्बी बहुत जल्दी घटती है. इसके अलावा यह हाई ब्लड प्रेशर और हार्ट डिजीज की समस्या को कम करती है. हल्के और बार-बार जंपिंग रोप से आपके घुटनों पर कम दबाव पड़ता है. इससे टखने की स्थिरता में सुधार होता है और पिंडलियों का आकार सही हो जाता है. जंपिंग रोप के लिए तीव्रता के साथ पांवों की हरकतों की जरूरत होती है. इससे स्टेमिना मजबूत होता है और शरीर में स्फूर्ति आती है.

ये भी पढ़ेंः सीजनल अफेक्टिंग डिसऑर्डर से बचना है, तो डाइट में करें इस तरह का बदलाव

रनिंग के फायदे
हल्की या मॉडरेट रनिंग शरीर में इंडॉर्फिन आर सेरेटोनिनन (endorphins and serotonin) केमिकल रिलीज करने में मदद करती है जिससे तनाव और बेचैनी के स्तर में सुधार होता है. रनिंग का सबसे ज्यादा फायदा व्यक्ति की मानसिक अवस्था पर पड़ता है. रनिंग से चिंता, अवसाद, अकेलापन, सामाजिक अलगाव जैसी समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है. रनिंग करने से अच्छी नींद भी आती है. रनिंग फेफेड़ें की सफाई करने में भी बहुत फायदेमंद है. फेफड़ें में जमा हुए अतिरिक्त कार्बन डाइऑक्साइड को बाहर निकालती है. दौड़ने से सांस लेने वाले मसल्स भी मजबूत होते हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

खुशखबरी! अक्षय कुमार ने बताई FAU-G के लॉन्च की तारीख, रॉयल बैटल गेम ऐप PUBG को देगा टक्कर

‘रश्मि रॉकेट’ के प्रीमियर नाइट में सितारों का लगा जमावड़ा, तापसी पन्नू का दिखा Cool अवतार, देखें PICS