in

लो कोलेस्ट्रॉल से बढ़ता है कैंसर का खतरा, जानें कब हो सकती है ऐसी कंडीशन

हाइलाइट्स

लो कोलेस्‍ट्रॉल से ब्‍लड कैंसर होने का खतरा बढ़ सकता है. लो कोलेस्‍ट्रॉल से हो सकती है शरीर में विटामिन डी की कमी.

Cause Of Low Cholesterol- कोलेस्‍ट्रॉल का बढ़ना शरीर के लिए जितना नुकसानदायक होता है उतना ही कोलेस्‍ट्रॉल का सामान्‍य लेवल से कम होना खतरनाक हो सकता है. शरीर को कार्य करने के लिए कुछ एलडीएल कोलेस्‍ट्रॉल की आवश्‍यकता होती है जिसका कम होना हेल्‍थ पर बुरा असर डाल सकता है. हालांकि कोलेस्‍ट्रॉल का कम होना हेल्‍थ की दृष्टि से बेहतर माना जाता है लेकिन कई कारणों से जब कोलेस्‍ट्रॉल सामान्‍य लेवल से कम हो जाता है तो कई बड़ी बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है. लो कोलेस्‍ट्रॉल लेवल से इंफेक्‍शन, सूजन और कुपोषण जैसी समस्‍याएं आ सकती हैं. कई मामलों में लो कोलेस्‍ट्रॉल की वजह से कैंसर के लक्षण भी देखे गए हैं. लो कोलेस्‍ट्रॉल कई कारणों से हो सकता है. चलिए जानते हैं लो कोलेस्‍ट्रॉल क्‍यों और कैसे हो सकता है.

कब हो जाता है लो कोलेस्ट्रॉल?
एलडीएल कोलेस्‍ट्रॉल को खराब कोलेस्‍ट्रॉल के रूप में जाना जाता है. हेल्‍थलाइन के अनुसार आमतौर पर डॉक्‍टर्स लोगों को एलडीएल कोलेस्‍ट्रॉल के लेवल को कम करने के लिए प्रोत्‍साहित करते हैं. हालांकि जब एलडीएल का लेवल ब्‍लड के 50 मिलीग्राम पर डेसीलीटर से कम हो जाता है तो ये किसी हेल्‍थ प्रॉब्‍लम का संकेत हो सकता है. कोलेस्‍ट्रॉल की इस समस्‍या को नजरअंदाज करना खतरनाक हो सकता है. लो एलडीएल कोलेस्‍ट्रॉल कम लोगों में ही देखने को मिलता है लेकिन ये कैंसर, इंफेक्‍शन और ब्रेन प्रॉब्‍लम को बढ़ावा दे सक‍ता है. लो कोलेस्‍ट्रोल से बचने के लिए फिजिकल और मेंटल हेल्‍थ पर ध्‍यान देना होगा. इसके साथ हेल्‍दी डाइट फॉलो करने से लो कोलेस्‍ट्रॉल लेवल को नॉर्मल करने में मदद मिल सकती है.

लो कोलेस्‍ट्रॉल के कारण
–  कुपोषण
–  हाइपरथाइरोडिज्‍म
–  इंफेक्‍शन जैसे हेपेटाइटिस सी
–  सूजन
–  ब्‍लड कैंसर
–  जेनेटिक कारण

लो कोलेस्‍ट्रॉल के लक्षण
–  फैटी स्‍‍टूल
–  डिप्रेशन
–  विजन प्रॉब्‍लम
–  हार्मोनल इम्‍बैलेंस
–  वेट लॉस
–  बच्‍चों में बौद्धिक क्षमता का कम होना

यह भी पढ़ेंः यूरिक एसिड बढ़ने से किडनी फेलियर का खतरा, जानें इसे कंट्रोल करने का तरीका

लो कोलेस्‍ट्रॉल का प्रभाव
–  विटामिन डी की कमी
–  स्‍टेरॉयड हार्मोन पर प्रभाव
–  स्‍लो मेटाबॉलिज्‍म
–  मेंटल प्रॉब्‍लम
– गुस्‍सा बढ़ना

यह भी पढ़ेंः ज्यादा तनाव की वजह से घट सकता है वजन? रिसर्च में सामने आया कनेक्शन

लो कोलेस्‍ट्रॉल का इलाज
–  लाइफस्‍टाइल में बदलाव
– स्‍मोकिंग छोड़ना
–  वेट कंट्रोल करना
–  फिजिकली एक्टिव रहना
–  हेल्‍दी डाइट फॉलो करना

Tags: Health, Health problems, Lifestyle

Source link

Diwali पर कंगना रनौत ने फूलों से सजाया अपना आलीशान घर, देखें होम स्वीट होम की Inside Photos

दिवाली पूजा के दौरान प्रेग्नेंट पत्नी आलिया भट्ट का ख्याल रखते दिखे रणबीर कपूर, साथ दिखीं समधनें नीतू कपूर-सोनी राजदान