in

वर्किंग पैरेंट्स बच्चे के साथ क्वॉलिटी टाइम बिताने के लिए रूटीन में शामिल करें ये 4 आदतें

हाइलाइट्स

घर की सजावट या साफ-सफाई का काम बच्चे के साथ मिलकर करें. डिनर हर हाल में बच्चों के साथ करें और उनसे उनके दिन भर की एक्टिविटी के बारे में बात करें.

वर्किंग पैरेंट्स के लिए बच्चे के साथ टाइम स्पेंड करना बेहद ज़रूरी है. इससे बच्चे को अपनी लाइफ में खालीपन या बोरियत महसूस नहीं होगी. हर पैरेंट्स अपने बच्चे के साथ क्वॉलिटी टाइम स्पेंड करना चाहते हैं, लेकिन उनकी बिज़ी लाइफ उन्हें इस बात की इजाज़त नहीं देता है. इससे कई बार पैरेंट्स और बच्चे के बीच दूरी बढ़ने लगती है.

पैरेंट्स सोचते हैं कि वे जो कुछ भी कर रहे हैं, बच्चे के लिए ही कर रहे हैं, जबकि बच्चे को लगता है कि पैरेंट्स उसके बारे में सोचते ही नहीं है. मां-बाप और बच्चों के बीच ऐसी कोई दूरी आए, उससे पहले ही पैरेंट्स को सतर्क हो जाना चाहिए और हर हाल में अपने वर्किंग टाइम को मैनेज करते हुए बच्चे को समय देना चाहिए, ताकि वो अपने मन में बेतुके ख़्याल न लाएं और इंट्रोवर्ट होने से बचे रहें.

ये भी पढ़ें: अपने बच्चे को बनाना है होशियार, तेज, तो उनके साथ खेलें, बातें करें और पढ़ें

वर्किंग रहते हुए बच्चे को समय कैसे दें

साथ में डिनर करें – दिन चाहे कितना भी व्यस्त हो ,बच्चे स्कूल जाते हों और आप ऑफिस, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि ऑफिस से वापस आने का समय ऐसा हो कि बच्चे आपको जगे मिले. पैरेंट्स डॉट कॉम में छपी एक खबर के मुताबिक, आप सब मिलकर साथ खाना खाएं और उनसे उनके दिन भर की एक्टिविटी के बारे में बात करें. इससे बच्चे आपको अपने मन की बात बताएंगे और आउट स्पोकन बनेंगे.

बच्चों के साथ वॉक पर जाएं – डिनर के बाद बच्चे के साथ वॉक पर जाएं. इससे वो आपके साथ ज़्यादा से ज़्यादा समय बिता सकेगा और आप दोनों की बॉन्डिंग अच्छी होगी. हर दिन आप बच्चे को स्कूल छोड़ने या उसे लाने नहीं जाते हैं, तो उसकी भरपाई रात को थोड़ा वक्त साथ बाहर निकलकर करें. इससे बच्चे को अच्छा लगेगा.

ये भी पढ़ें: ‘पैरेंट्स टीचर मीटिंग’ में कभी ना करें बच्चों के सामने टीचर से ये 5 बातें, बढ़ती है नकारात्‍मकता

साथ में निपटाएं घर के काम – आपको बच्चे के साथ ज़्यादा टाइम नहीं मिल पाता है, तो घर की सजावट या साफ-सफाई का काम बच्चे के साथ मिलकर करें. इससे उन्हें कुछ अच्छा करने की खुशी होगी, वो साथ घर से जुड़े काम जानें-समझेंगे, साथ ही साथ आप उन्हें रूटीन लाइफ से ज़्यादा टाइम दे पाएंगे.

उनके खेल में शामिल हों – बच्चे के साथ स्ट्रॉन्ग बॉन्डिंग बनाने के लिए ज़रूरी है कि आप उनके साथ उनके बचपने का हिस्सा बनें. उनके खेल में शामिल होने के साथ-साथ उनसे हारना भी ज़रूरी है. बेशक, आप बच्चे के साथ पूरा दिन न बिता पाएं, लेकिन हंसी-खुशी भरा थोड़ा ही समय उनके लिए काफी है.

Tags: Lifestyle, Parenting, Parenting tips

Source link

Throwback: शाहरुख खान ने 4 मीटिंग पर साइन की थी DDLJ, ‘हां’ नहीं कहते तो सैफ अली खान होते हीरो

Bigg Boss 16 Highlights: चिकन, चिकन की लगाई रट तो शालीन भनोट पर फूटा बिग बॉस का गुस्सा, बोले- ‘एक्टिंग बंद करिए’