in

वर्किंग लाइफ में ‘माइक्रोब्रेक्स’ की जरूरत को न करें इग्नोर, बोरिंग काम में भी आएगा इंट्रेस्ट

Microbreaks Importance in working life: आजकल की भागमभाग जिंदगी में अपने लिए समय निकाल पाना बहुत मुश्किल है. चाहे आप घर में हों या फिर कोई नौकरी करते हों या फिर आपका कोई बिजनेस हो. पुरुष से लेकर महिलाओं तक सभी के लिए बहुत जरूरी है कि काम के बीच में कुछ ब्रेक लिया जाए. अक्सर लोग वर्किंग लाइफ में माइक्रोब्रेक्स की इंपॉर्टेंस को इग्नोर कर देते हैं. हेल्थ डॉट काम की खबर के अनुसार एक रिपोर्ट बताती है कि छोटे छोटे माइक्रो ब्रेक्स आपके पूरे दिन को खास बना सकते हैं.

अध्यय में बताया गया है कि छोटे छोटे ब्रेक लेने से आप को कार्य करने की अधिक ऊर्जा मिलती है और साथ ही थकान भी कम होती है. आप अगर कुछ घंटों से काम कर रहे हैं तो जरूरी होता है कि आप बीच में 10-15 मिनट का माइक्रो ब्रेक लें. माइक्रो ब्रेक मूल रूप से आपके काम और स्वास्थ्य दोनों पर असर डालते हैं. अगर आप किसी कठिन और मेहनत वाले काम में लगे हुए तो उस स्थिति में लंबे ब्रेक भी बेहतर असर डालते हैं.

स्टडी करने वाली एक एक्सपर्ट इरिना मैक्सिंगा ने कहा कि डिजिटलाइजेशन हुआ है तब से हमारे काम में बहुत बड़ा अंतर आ गया है. कर्मचारियों पर भी काफी दबाव पड़ने लगा है.

‘माइक्रोब्रेक्स’ क्या हैं और वे आपके लिए अच्छे क्यों हैं?
जब आप अपने काम के बीच से 10-10 मिनट का ब्रेक लेते हैं तो उसे माइक्रो ब्रेक कहते हैं. मैकिस्ंगा ने कहा कि माइक्रोब्रेक वे होते हैं जो लोग अपनी इच्छा से लेते हैं, जब उन्हें लगता है कि काम को करने के लिए नई ऊर्जा की आवश्यकता है. माइक्रोब्रेक अक्सर आप में एक नई शक्ति का संचार करते हैं जिससे आपके परफॉर्मेंस में काफी असर पड़ता है.

YOGA SESSION: शरीर को फुर्तीला बनाना है तो इस तरह करें योगाभ्‍यास, दूर रहेगी अकड़न-जकड़न

माइक्रोबेक्र आपको आपको उस समय फ्रेश और ऊर्जावान महसूस कराते हैं जब आप एक काम को किए किए बोर हो जाते हैं. ये आपको एक नए उत्साह का अनुभव कराते हैं. काम पर इंट्रेस्ट बनाए रखने के लिए भी माइक्रोब्रेक काफी जरूरी है. ये ब्रेक्स आपके दिमाग और शरीर दोनों पर ही असर डालते हैं.

नए विचारों को जन्म देते हैं माइक्रोब्रेक्स
कई बार हमें अपने काम को बेहतर और अलग तरह से करने के लिए कुछ खास टिप्स या फिर आइडिया की जरूरत होती है लेकिन लगातार काम करने की वजह से आप कुछ भी नया नहीं सोच पाते. ऐसे में अगर आप काम के बीच से माइक्रो ब्रेक लेते हैं तो इससे तरह तरह के नए आइडिया सोच सकते हैं.

मनुष्य का दिमाग लंबे समय तक एक ही काम करने के लिए नहीं बना है. तरह-तरह के सांसारिक कामों में व्यस्त रहने की वजह से हमारा दिमाग कई बार भटक जाता है और वह सही निर्णय नहीं ले पाता ऐसी स्थिति में अपने मन को शांत करने के लिए माइक्रोब्रेक जरूरी है. माइक्रोब्रेक आपको रिसेट करने का सबसे आसान तरीका है.

रिलेशनशिप में हर किसी को होती हैं ये 5 उम्मीदें, इन पर खरा उतरने की करें कोशिश

‘माइक्रोब्रेक’ में क्या करना चाहिए?
माइक्रोब्रेक में क्या करना चाहिए इसको लेकर बहुत ज्यादा छूट है. लेकिन आपको यह ध्यान रखना है कि आप इस दौरान जो भी करते हैं वह आपके काम करने में सहायक हो. माइक्रोब्रेक आपको रिलैक्स फील कराने वाला होना चाहिए न कि आपको किसी तरह के टेंशन दे. आप कुछ देर स्ट्रेचिंग कर सकते हैं, कुछ सॉफ्ट ड्रिक्स ले सकते हैं. इसके अलावा आप माइक्रोब्रेक के दौरान म्यूजिक भी सुन सकते हैं.

किसके लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद है माइक्रोब्रेक
माइक्रोब्रेक को लेकर हुए अध्ययन में फिलहाल यह सामने नहीं आया कि यह किस प्रकार के लोगों के लिए ज्यादा फायदेमंद रहने वाला है. लेकिन यह मान लेना चाहिए कि आप किसी भी काम में व्यस्त हों लेकिन अगर आप माइक्रोब्रेक लेते हैं तो इससे आपे काम में बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा और इसका असर आपके दैनिक जीवन पर भी पड़ेगा. माइक्रोब्रेक हर किसी के लिए एक बूस्टर टाइम का काम करता है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

‘जिन्ना’ के प्रमोशनल इवेंट में सनी लियोनी ने लूटी महफिल, पिंक ड्रेस में लगाया ग्लैमर का तड़का, देखिए Photos

राखी सावंत बॉयफ्रेंड के लिए बदलेंगी धर्म? आदिल खान बोले- ‘मुस्लिम बैकग्राउंड से आता हूं, ये भी ध्यान रखना है’