in

सबसे बड़ा सवाल, क्या प्रेग्नेंट महिलाओं को कॉफी पीनी चाहिए? रिसर्च में सामने आई ये बात

हाइलाइट्स

कॉफी में कैफीन की प्रचुर मात्रा होती है जिसका ज्यादा सेवन नुकसानदेह हो सकता है200 मिलीग्राम से अधिक का सेवन बच्चे के स्वास्थ्य के लिए जटिलताएं पैदा कर सकती हैं

Coffee in pregnancy: कॉफी की सोंधी खुशबू ज्यादातर लोगों को दीवाना बना देती है. जैसे ही कहीं कॉफी की सुगंध का एहसास होता है कॉफी पीने की तलब होने लगती है. जो लोग कॉफी पीने के शौकीन है उनके लिए कॉफी के बिना दिन पूरा नहीं होता. ऐसे में प्रेगनेंट महिलाएं खुद को कॉफी पीने से कैसे रोक सकती हैं. कई लोग खास तरह से अपनी कॉफी बनाने के तरीकों पर ध्यान देते हैं- कुछ इसे फ्रेंच प्रेस पर बनाते हैं, जबकि कुछ को फिल्टर कापी के अपने हिस्से से प्यार है. हालांकि,कॉफी का आनंद लेने के लिए कुछ संयम हमेशा महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि इसमें कैफीन की प्रचुर मात्रा होती है. ऐसे में यह सवाल लाजिमी है कि क्या गर्भावस्था के दौरान कॉफी पीना सुरक्षित है? क्या इसके कोई साइड इफेक्ट हैं?

गर्भवती महिलाओं को बच्चे के विकास को प्रोत्साहित करने और खुद को स्वस्थ रखने के लिए स्वस्थ और पौष्टिक भोजन लेने की सलाह दी जाती है. प्रेग्नेंसी में शराब या धूम्रपान का सेवन सख्त वर्जित होता है. ऐसे में कई लोग इस बात को लेकर भ्रमित रहते हैं कि कॉफी में मौजूद कैफीन प्रेग्नेंसी में सुरक्षित है या नहीं.

क्या कहती है रिसर्च
एक शोध से पता चला है कि गर्भावस्था के दौरान कॉफी की अनुशंसित खुराक यानी 200 मिलीग्राम से अधिक का सेवन बच्चे के स्वास्थ्य के लिए जटिलताएं पैदा कर सकती हैं. “कॉफी कंजंम्पशन डूरिंग प्रेग्नेंसी-व्हाट द गायनेकोलॉजिस्ट शुड नो” शीर्षक से एक अध्ययन प्रकाशित हुआ है जिसमें पता चला है कि गर्भावस्था के दौरान अनुशंसित स्तर से अधिक कैफीन का सेवन मेटाबोलिज्म को स्लो कर देता है. इस प्रकार खून के माध्यम से कैफीन भ्रूण में प्रवेश करती है जिससे मां और बच्चे दोनों के लिए स्वास्थ्य संबंधी जटिलताएं पैदा होती हैं.

लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि कॉफी से सबको नुकसान होता है. जो प्रेग्नेंट नहीं है उनके लिए कॉफी के कई फायदे हैं. शोध में कहा गया है कि कॉफी को पेपर फिल्टर के साथ बिना चीनी या दूध के लिया जाए तो इसका बहुत सकारात्मक असर होता है. दिन में 2-3 कप कॉफी पीने से शरीर में एंटी-हाइपरटेन्सिव असर होता है. यानी इससे तंत्रिका तंत्र, पाचन तंत्र, हृदय और गुर्दे की प्रणाली की गतिविधि पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है.

Tags: Health, Lifestyle

Source link

News In 5 Minutes: ‘बिग बॉस 16’ के टीजर से लेकर रजनीकांत के नाना बनने तक, पढ़े अबतक की 5 बड़ी खबरें

बिजली विभाग में नौकरी का सुनहरा मौका,अभी करें आवेदन, आज आवेदन की आखिरी तारीख | rec PDCL recruitment 2022, government jobs