in

सितंबर के महीने में मूली के साथ उगाएं ये 4 ताजी सब्जियां

हाइलाइट्स

सितंबर में गाजर, मूली और मटर उगाया जा सकता है.पौधों में ऑर्गेनिक खाद और कीटनाशक डाल सकते हैं. पानी का ख्याल रखें, ओवरवॉटरिंग से पौधें नष्ट हो सकते हैं.

Grow Fresh and Healthy Vegetables at Home : हम जब भी कोई काम करते हैं तो उससे पहले योजना बनाते हैं जो सफलता पाने के लिए जरूरी होती है. अगर आप अपने गार्डन में सब्जियां लगाना चाहते हैं तो आपको मौसम के अनुसार सब्जियां चुनना चाहिए. ऐसे में सितंबर माह की बात करें तो सितंबर के महीने में मानसून बरसात का अंत होता है और नमी बढ़ने लगती है. ठंडे मौसम या सितंबर महीने में मूली के उगाने के आपको बहुत सारे फायदे मिलते हैं. इसके साथ टमाटर, ब्रोकली, मटर और गाजर आदि सब्जियों की वृद्धि इस महीने में तेजी से होती है जिससे लाभ भी ज्यादा मिलता है. एक्सपर्ट्स की माने तो सितंबर महीने में इन सब्जियों के उगाने से आप कई बीमारियों से भी बच सकते हैं. तो आइए जानते हैं कि सितंबर माह में मूली के साथ आसानी से उगाई जाने वाली ताजी सब्जियों के बारे में.

सितंबर माह में उगाएं ये फ्रेश सब्जियां 

मूली 
मूली के लिए 10-30°C तापमान की जरूरत होती है इसलिए मूली सितंबर के महीने में बहुत तेजी से ग्रो कर सकती हैं. मूली रोजाना लगभग 6 घंटे की धूप और पानी की जरूरत होती है. यह बीज लगने के लगभग एक दो महीने बाद हार्वेस्टिंग के लिए तैयार हो जाती हैं.

टमाटर 
टमाटर पौधों को 16-30°C तापमान वाली जगह में आसानी से उगाया जा सकता है. टमाटर के पौधे को 6 से 8 घंटे की धूप और नमी वाली मिट्टी में उगाने से तेजी से वृद्धि होती है. बीज लगने के 60 दिनों बाद टमाटर के पौधे पर फल आने लगते हैं.

ब्रोकली 
ब्रोकली वेजिटेबल प्लांट शरद ऋतु में अच्छी तरह से बढ़ती है. ब्रोकली पौधे को उगाने के लिए तापमान 16-27°C होता है. यह पौधा धूप में अच्छे से ग्रो करता है. आप इस पौधे को सप्ताह में 1-2 इंच गहराई तक पानी दे सकते हैं. बीज लगने के 60 से 70 दिनों बाद ब्रोकली तैयार हो जाती है.

ये भी पढ़ें: बड़ा आसान है घर में टमाटर उगाना, अपनाएं ये आसान टिप्स

मटर
मटर को ठंडे मौसम में 10-30°C पर उगाया जाता है. मटर के पौधे को अधिक पानी की आवश्यकता नहीं होती इसलिए इसे प्रति सप्ताह में 1 इंच गहराई से पानी दिया जा सकता है. बीज लगाने की 70 दिन बाद आप मटर को हार्वेस्ट कर सकते हैं.

गाजर
गाजर ठंडे मौसम और नम मिट्टी में तेजी से ग्रो होती है इसलिए आप सितंबर महीने में 15-30°C तापमान पर गाजर को आसानी से उगा सकते हैं. इसके पौधों को एक या दो दिन के अंतराल में पानी देना चाहिए,बीज लगने के 80 दिनों बाद गाजर का पौधा तैयार हो जाता है.

इम्यूनिटी मजबूत कर इन गंभीर बीमारियों से बचाता है नींबू पानी, वेट लॉस में भी कारगर

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Lifestyle, Plantation, Tips and Tricks

Source link

सारा अली खान-अनन्या पांडे संग तुलना से जाह्नवी कपूर को नहीं पड़ता फर्क? जानें क्या बोलीं अभिनेत्री

भूल भुलैया 2 सुपरहिट…फिर भी इकोनॉमी क्लास में सफर करते हैं ‘रूह बाबा’, कार्तिक आर्यन की सादगी से फैंस इंप्रेस