in

सूर्य ग्रहण में अपना ही नहीं, Pet Dog का भी रखें ध्‍यान, उन पर भी पड़ सकता है इसका गहरा असर

हाइलाइट्स

इस समय कुत्‍तों के बिहेव में काफी अंतर देखने को मिल सकता है. सूरज को देखने से उनकी आंखों को नुकसान हो सकता है.

Solar Eclipse Effects On Dogs: सूर्य ग्रहण का असर ना केवल इंसानों पर पड़ता है, बल्कि जानवरों के बिहेवियर पर भी इसका असर देखने को मिलता है. बता दें कि दिवाली के अगले दिन यानी कि 25 अक्‍टूबर को सूर्य ग्रहण लग रहा है, जिसका असर भारत में भी देखने को मिलेगा. ऐसे में अगर आप ग्रहण के लिए खुद को तैयार कर लिए हैं तो आपको बता दें कि अगर आपके घर में फरी फ्रेंड यानी कि आपका पेट डॉग है तो उसके लिए भी कुछ तैयारियां कर लेना ज़रूरी हैं. आइए यहां हम आपको बताते हैं कि सूर्य ग्रहण का असर आपके पेट डॉग पर कैसे पड़ सकता है और आप किस तरह उन्‍हें सेफ रख सकते हैं.

क्‍या कहना है विशेषज्ञों का
एपीबीएफ.डॉग के मुताबिक, सूर्य ग्रहण एक प्राकृतिक घटना है, जिसमें सूरज की अवस्‍था में अस्थायी परिवर्तन हो जाने से जानवरों के बिहेव में अंतर देखने को मिलता है. कैलिफोर्निया एकेडमी ऑफ साइंसेज के शोधकर्ताओं ने ये पाया है कि जानवर सूर्य ग्रहण से काफी प्रभावित होते हैं. कोलोराडो विश्वविद्यालय के फिस्के तारामंडल के निदेशक डगलस डंकन ने कहा कि ऐसी घटना होने पर सामूहिक समूहों में डॉल्फ़िन और व्हेल समुद्र की सतह पर नजर आते हैं, मकड़ियां अपने जाले तोड़ देती हैं, चमगादड़ बाहर निकल आते हैं, रात में जागने वाले जानवर जागते हैं और इधर-उधर घूमने लगते हैं, मेंढक और झुं‍गुर तेज ध्‍वनी निकालते हैं और कुछ शोर मचाने वाले जानवर चुप हो जाते हैं. ऐसे ही कुत्‍तों के बिहेव में भी काफी बदलाव देखने को मिलता है.

इसे भी पढ़ें : पालतू कुत्‍तों को हेल्‍दी रखने के लिए अपनाएं ये डॉग डाइट प्‍लान, लंबी उम्र तक वे रहेंगे हेल्‍दी और ब्‍यूटीफुल

पालतू कुत्‍तों पर इसका असर
पालतू कुत्‍ते हमारे वातावरण में प्रेशर चेंज, मौसम में बदलाव भुकंप आदि के प्रति जिस तरह सेंसिटिव होते हैं, उसी तरह सूर्य ग्रहण का असर भी उनके बिहेव में देखने को मिलता है. इन बदलावों को वे अनुभव करते है लेकिन कुछ ना कर पाने और पूरी तरह अपने मालिक पर निर्भर होने से वे तनाव या एंग्‍जायटी महसूस करने लगते हैं. वे उसी तरह रिएक्‍ट करते हैं जिस तरह सेपरेशन एंग्‍जायटी और फीयर रिलेटेड हालात में बिहेव करते हैं. हालांकि ये बिहेव टेम्‍पररी होता है.

इसे भी पढ़ें : घर पर डॉग को अकेला छोड़ने में होती है परेशानी तो अपनाएं ये ट्रिक्स, आराम से जा सकेंगे ऑफिस

पालतू कुत्‍तों को इस तरह रखें सेफ

आंखों को नुकसान
अगर आप उन्‍हें लेकर बाहर वॉक पर जा रहे हैं तो उनकी आंखों को सुरक्षित रखने का ख्‍याल रखें. हालांकि आपके कुत्ते के लिए सूर्य ग्रहण के दौरान सूरज को देखना संभव नहीं होता, वे स्वाभाविक रूप से सूर्य को नहीं देखते हैं और ना ही उन्‍हें सूर्य ग्रहण देखने की इच्‍छा होती है. हालांकि अगर संयोग से वे सूर्य को घूर लें तो उनकी आंखों को नुकसान हो सकता है और अंधापन तक हो सकता है.

व्‍यवहार में बदलाव
अगर आप घर के बाहर हों और उस वक्‍त सूर्य ग्रहण हो तो हो सकता है कि आपका कुत्‍ता एंग्‍जायटी या डर का अनुभव करे. यह भी हो सकता है कि वो यात्रा के दौरान असहज महसूस करे या डर की वजह से एग्रेसिव हो जाए. ऐसे में भीड़भाड़ या स्‍ट्रीट डॉग को देखकर वे उत्‍तेजित हो जाए और काटने या डराने जैसा व्‍यवहार करे. इसलिए बेहतर होगा कि आप ऐसी समस्‍याओं को दूर रखने के लिए ग्रहण के दौरान घर पर ही रहें.

Tags: Dog, Lifestyle, Surya Grahan

Source link

दिवाली पूजा के दौरान प्रेग्नेंट पत्नी आलिया भट्ट का ख्याल रखते दिखे रणबीर कपूर, साथ दिखीं समधनें नीतू कपूर-सोनी राजदान

Jaya Bachchan: दिवाली पर भी जया बच्चन ने लोगों पर किया गुस्सा घर के बाहर निकलकर पैपराजी पर भड़कीं एक्ट्रेस