in

हर वक्‍त ‘स्‍वार्थी’ होना नहीं होता है बुरा, जानें कब होती है केवल खुद के बारे में सोचने की जरूरत

हाइलाइट्स

सेल्‍फ केयर का मतलब केवल स्किन केयर, हेयर केयर आदि तक सीमित नहीं होता.भावनात्मक, मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए थोड़ा स्वार्थी होना जरूरी होता है.

When To Be Selfish : जब भी हम ‘सेल्फिश’ शब्‍द का इस्‍तेमाल करते हैं तो इसका अर्थ निगेटिविटी से भरा होता है. ऐसे में हम खुद या खुद की जरूरत या शौक के बारे में सोचना गलत समझने लगते हैं और पहले उन चीजों को करना सही समझते हैं जो हर इंसान के लिए अच्‍छा हो. लेकिन हमारी ये सोच हर बार सही नहीं होती. हेल्थ लाइफ के मुताबिक, सोशल मीडिया के इस दौर में लोगों ने सेल्‍फ केयर का मतलब केवल स्किन केयर, हेयर केयर आदि तक ही सीमित कर दिया है, जबकि सेल्‍फकेयर खुद के फिजिकल और मेंटल केयर से संबंधित है. स्वार्थी होने से बचने के लिए अपनी और अपने स्वास्थ्य की उपेक्षा करना गलत है. जरूरी नहीं कि स्वार्थ बुरी चीज ही हो. अपने भावनात्मक, मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए थोड़ा स्वार्थी होना अच्छा हो सकता है. ऐसे में अगर आपके सेल्‍फकेयर को कोई स्‍वार्थी होना बताए, तो इसमें कोई गलती नहीं है. यहां हम आपको बताते हैं कि आपका कब स्‍वार्थी होना सही हो सकता है.

कब स्‍वार्थी होना जरूरी

आपको जरूरत हो
कई बार हम काम करते करते काफी तनाव में आ जाते हैं और हमें मदद की जरूरत महसूस होती है. लेकिन हम दूसरों की सोचकर मदद लेने से कतराने लगते  हैं. ऐसा ना करें और अपने साथियों, दोस्‍तों और परिवार से जरूरत पड़ने पर मदद मांगे.

रेस्‍ट जरूरी
कई ऐसे सिचुएशन होते हैं जब आप शारीरिक या मानसिक रूप से थक चुके होते हैं लेकिन कुछ परिस्थितियों में आप ब्रेक लेना ठीक नहीं समझते, क्‍योंकि आपको लगता है कि ब्रेक लेने से संस्‍थान को नुकसान हो सकता है. लेकिन आपको बता दें कि हर समय ऐसा ना सोचें. क्‍योंकि आपको रेस्‍ट की जरूरत है और और बिना रेस्‍ट लिए आपके मेमोरी, सेहत, रिलेशनशिप आदि पर इसका नकारात्‍मक असर पड़ेगा.

इसे भी पढ़ें- बिग बॉस के अब्दू रोजिक की हाइट क्यों नहीं बढ़ी? डॉक्टर से जानें यह बीमारी और इसका इलाज

अकेले वक्‍त गुजारना
हम सभी को कभी कभी अकेले रहने की  जरूरत महसूस होती है जबकि कुछ लोगों को अधिक अकेलेपन की जरूरत होती है. ऐसे में अगर आपको किसी से मिलने या लोगों के साथ वक्‍त गुजरने का मन नहीं कर रहा और आप काफी तनाव व असमंजसता महसूस कर रहे हैं तो खुद की सुनें और अकेले में वक्‍त गुजारें. ऐसे में आप लोगों का इसकी जरूरत बता सकते  हैं.

यह भी पढ़ें- वजन कम करने के लिए करें ये योगाभ्‍यास, पूरे बॉडी के फैट को करता है कम

ब्रेक लें
रिलेशनशिप, जॉब,दोस्‍त, रिश्‍तेदार आदि के कारण आप मेंटली थका हुआ महसूस कर रहे हैं तो यह सही समय है कि आप इनसे ब्रेक लें और मूवऑन करें. कई बार हम उन लोगों के बीच इसलिए जबरदस्‍ती बने रहते  हैं क्‍योंकि हम नहीं चाहते कि उन्‍हें आपकी बात बुरी लगे. लेकिन ऐसे सिचुएशन आपका फिजिकली और मेंटली नुकसान कर रहे हैं.

Tags: Health, Lifestyle, Mental health

Source link

Bhojpuri Song: छठी मइया की भक्ति में डूबे दिखे नीलकमल सिंह, बोले- ‘मथवा प लेके दउरवा’

Rozgar Mela: दिवाली से पहले PM मोदी ने युवाओं के लिए खोला 10 लाख नौकरियों का पिटारा | Rozgar Mela: Before Diwali, PM Modi gifted 10 lakh jobs to the youth