in

13 साल की उम्र में जया बच्चन को मिली थी अपनी पहली सैलरी, एक्ट्रेस को नहीं पता कितना मिला था पैसा?

मुंबई: जया बच्चन (Jaya Bachchan) अपनी नातिन नव्या नवेली नंदा के पॉडकास्ट में अपने बीते दिनों को याद करती हैं. नानी-नातिन की बातचीत में जया और अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) की बेटी श्वेता बच्चन भी हैं. तीनों इस एपिसोड में ‘फंड और महिलाएं’ मुद्दे पर बात करती नजर आ रही हैं. जया अपने अभिनय के शुरुआती दिनों को याद करते हुए बताती हैं कि पहली बार जब पैसे कमाए, तब वह सिर्फ 13 साल की थीं और उन्हें नहीं पता कि कितना पैसा मिला था.

दरअसल, जया बच्चन ने 1963 में सत्यजीत रे की बंगाली फिल्म ‘महानगर’ से डेब्यू किया था. उस वक्त जया महज 13 साल की टीनएजर थीं. अपने पहले पेमेंट चेक के बारे में बात करते हुए एक्ट्रेस नव्या नवेली के पॉडकास्ट में बताती हैं कि मैंने 13 साल की उम्र में पैसे कमाए, लेकिन मुझे नहीं पता कि कितने पैसे थे. मैंने कभी अपने पिता से पूछा नहीं और इसकी मुझे कभी परवाह भी नहीं थी.

पहली सैलरी से उनके पिता ने रिकॉर्ड प्लेयर खरीदा था
जया अपने पिता तरुण कुमार भादुड़ी को याद करते हुए बताती हैं कि मेरी पहली सैलरी से बाबा मेरे लिए रिकॉर्ड प्लेयर खरीद कर लाए थे. जब मैं इंस्टीट्यूट जाती थी तो मैंने अपने पिता से कहा कि मैं नहीं चाहती कि आप फाइनेंस करें, अपनी पढ़ाई का खर्चा मैं खुद उठाऊंगी.

‘गुड्डी’ के सेट पर दोबारा मिले थे अमिताभ बच्चन
जया बच्चन ने पुणे के फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट से पढ़ाई की. वहीं पर अमिताभ बच्चन से जया की पहली मुलाकात हुई थी. इसके बाद, फिल्म ‘गुड्डी’ के सेट पर दोनों एक्टर्स साल 1971 में मिले. इस फिल्म में जया ने बड़े होने पर पहली बार लीड रोल प्ले किया था. एक दूसरे को कुछ साल डेट करने के बाद, अमिताभ और जया ने साल 1973 में शादी कर ली थी.

नव्या के पॉडकास्ट के दौरान जया बच्चन ने बताया कि मेरी मां (इंदिरा भादुड़ी) के पास एक छोटा किट था, जिसमें वह पैसे रखती थीं और कहती थीं कि ये भगवान के लिए है. उनके लिए सारी चीजें ऐसी ही थी कि ये भगवान करेगा, ये भगवान ने किया.

Tags: Amitabh bachchan, Jaya bachchan, Navya Naveli nanda, Shweta bachchan nanda

Source link

घर में आसानी से उगाएं रंग-बिरंगी और सुंदर पत्तियों वाला कोलियस का पौधा, जानें सही विधि

क्या डायबिटीज में मूली खानी चाहिए? एक्सपर्ट ने बताए मूली खाने के 4 बड़े फायदे