in

Bhojpuri: जन्मदिन विशेष-भोजपुरी के खनकदार गीत गवले बाड़ी आशा भोंसले, रउआ मालूम बा?

अपना मखमली स्वर अउरी गीतन खातिर जानल जाए वाली आशा दीदी भोजपुरी में भी एक से बढ़के करेजा के झकझोरे वाला गीत गवले बाड़ी, ई बात बड़ा कम लोग के मालूम होई. आज उनके जन्मदिन पर उनके उहे गीतन के चर्चा कइल जाई.

लता मंगेशकर के आशा भोंसले से शुरुए से बहुत प्यार रहल बा. जब उ छोट रहली त लता दीदी आशा के अपना गोदी में लेके स्कूले जास. एक बार एगो टीचर एक फीस पर दू जानी के पढ़ावे से मना कर देहलस त लता दीदी पढ़ाई छोड़ देहली. दुनू जानी के बीच खटास तब आइल जब आशा भोंसले लता दीदी के मैनेजर से भाग के बियाह कर लेहली, जे पर लता दीदी खूब खिसिआइल रहली. दुनू जानी में 15 बरिस के उम्र के अंतर रहे. बाद में ओह शादी से दूर होके आशा जी गीत-संगीत में वापस आ गइली अउरी उनके सिक्का फेर खूब चलल. हालांकि बाद में सभ ठीक हो गइल. फिर भी अफवाह उड़ल कि एक टाइम में दुनू जानी एक दूसरा के देखे के ना चाहे लोग. हालांकि बाद में लता दीदी अउरी आशा जी में नजदीकी आ गइल. लता जी के अंतिम समय में आशा जी उनका आस पास रहली.

आशा जी के भोजपुरी संगीत में धमाका
आशा जी के भोजपुरी फिल्मन में भी गावे के खूब मौका मिलल. 1963 में भोजपुरी के दूसरा फिल्म रिलीज भइल, “लागी नाही छूटे राम”. ई फिल्म में कई गो हिट गीत रहे, ओमें एगो रहे, “मुहवा से बोलs, कनखिया ना मारs’. नायक नायिका के नोंक झोंक वाला ई गीत के मन्ना डे अउरी आशा भोंसले गवले रहे लोग. ई गीत भी खूब बाजेला.

जब उनके सिक्का हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री में चलत रहे तब भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के दूसरा दौर चालू रहे. तब राकेश पांडे, सुजीत कुमार फिल्मन में हीरो बने लोग. एही दौर में एगो सफलतम फिल्म आइल, ‘दंगल’ (1977). ई भोजपुरी के पहिला रंगीन फ़िल्म रहे. सुजीत कुमार के ई फिल्म में गीत रहे ‘मोरे होठवा से नथुनिया गुलेल करेला, जइसे नागिन से सपेरा अटखेल करेला’. ई गीत आशा जी गवले रहली अउरी खूब हिट भइल रहे. एकर एगो गीत अउर रहे, ;बाड़े परेशान की हमरे, सावन में सजनवा’. इहो बढ़िया गीत बा.

1978 में एगो फिल्म आइल ‘अमर सुहागिन’. एह फिल्म के छौ गो गाना रहे अउरी सगरी आशा भोसले गवले रहली, कुछ उनके अकेले रहे अउरी कुछ महेंद्र कपूर के साथे डुएट रहे.

1979 में एगो फिल्म आइल ‘बलम परदेसिया’. एह फिल्म के कई गो गीत आशा जी गवली. जइसे, ‘गोरकी, पतरकी रे, मारे गुलेलवा जियरा उड़ उड़ जाए’. ई गीत में मोहम्मद रफी के साथे उनके डुएट वाला ई गीत खूब चलल. एही फिल्म के गीत ‘हंसी के तू देखs जे एक बेरिया’ त आजुओ प्रेमिका की ओर से प्रेमी खातिर गावल जाए वाला गीत बा. एगो जीवन दर्शन के गीत एही फिल्म में बा, ‘तोड़ के पिंजरा’, जवन आशा भोसले गवले बाड़ी.

1981 में फिल्म आइल ‘धरती मैया’, एकर एगो गीत जवन खूब हिट भइल, उ रहे, ‘केहु लुटेरा, केहु चोर हो जाला’. ई गीत आशा जी गवले बाड़ी. आशा भोसले एगो अउरी सोलो गीत गवली, ‘दुल्हिन बना दे बलमु’. ई गीत भी खूब चलल.

1984 में एगो फिल्म आइल ‘ठकुराइन’. एकर गीत ‘अरे रामा मिले ना जवनिया उधार, कि सावन के दिन चार, ए हरी’. ई कजरी रहे अउरी बड़ा कर्णप्रिय बा. फिल्म ‘सजनवा बैरी भइले हमार’ में उनके एगो गीत बहुत हिट रहे ‘जब हम जाईं नइहरवा, बलम अँचरा धई के रोए’. ई गीत भी खूब चलल.

‘गंगा के तीरे- तीरे (1986) के गीत ‘मोर बलमा बड़ा अकड़बाज’ आ ‘भइलें सावन में गवनवा’ भी आशा जी के बढ़िया गीत बाटे. 1990 के फिल्म ‘गंगा मैया भर दे गोदिया हमार’ में भी उनके गीत रहे. 1995 के फिल्म ‘बाजे बाँसुरिया गंगा तीरे’ के गीत ‘आइल बरखा बहार’ उनके हिट गीत ह. उनके नगदे गीत भोजपुरी में बा, जे में अधिकांश हिट गीतन के हम चर्चा इहाँ कइले बानी.

आशा जी के जन्म 8 सितंबर 1933 के सांगली जिला के एगो मराठी परिवार में भइल. उनके पिता जी दीनानाथ मंगेशकर एगो सक्रिय रंगकर्मी, शास्त्रीय गायक रहनी आ तब काफी लोकप्रिय भी रहनी. उनके पाँच गो संतान भइल. लता मंगेशकर, आशा भोंसले, उषा मंगेशकर, मीना खादीकर अउरी हृदयनाथ मंगेशकर. एह में सभे एक से बढ़के एक मशहूर गायक आ संगीतज्ञ भइलें. संगीत एह परिवार के डीएनए में रचल रहल बा. घर पर संगीत चारु ओर रहे एही से बचपने से आशा जी गीत संगीत में रम गइली. जब उ 9 साल के रहली तब उनके पिता जी के मृत्यु हो गइल. घर के आर्थिक हालत पहिले से ही ठीक ना रहे, पिता के गइला के बाद बिल्कुल हिल गइल. उनके परिवार तब पुणे में रहे, सभे मुंबई चल आइल. इहाँ उनके दीदी लता अउरी उ दुनू जानी फिलिम में गाना गावे लागल लोग ताकि परिवार चल सके. आशा भोंसले आपन पहिला फिल्मी गीत दस साल के उमिर गवली, ‘चला चला नाव बाला’. उनके हिन्दी में गीत गावे के मिलल 1948 में, जब उ पंद्रह साल के रहली. चुनरिया फिल्म में ‘सावन आया’ उनके पहिला हिन्दी गीत ह. उनके सोलो गीत गावे के मिलल अगिले साल फिल्म ‘रात की रानी’ में, बोल रहे, ‘हमारे दिल पे इख्तियार होना था’.

उनके 1966 में आर.डी. बर्मन के करियर के पहिला गीत गावे के मौका मिलल जवन उ रफी साहब के साथे डुएट गवली. शम्मी कपूर के फिल्म ‘तीसरी मंजिल’ के वेस्टर्न ट्यून के गाना ‘आजा आजा तू है प्यार मेरा’ बहुत कठिन रहे. आशा जी एकरा खातिर दस दिन रिहर्सल कइली आ जब गीत गवली त उ अमर हो गइल. एह फिल्म में उनके दू गो अउरी सुपरहिट गाना रहे; ‘ओ हसीना ज़ुल्फ़ों वाली जाने जहां’ आ ‘ओ मेरे सोना रे’. राहुल देव बर्मन उर्फ पंचम दा के साथे उनके लगातार हिट गीत आइल. ई जोड़ी बाद में बियाह भी कइल आ पंचम दा के मृत्यु तक ई रिश्ता बढ़िया से चलल अउरी हिन्दी संगीत जगत के एक से बढ़के एक सदाबहार गीत देहलस. जइसे ‘पिया तू अब तो आजा’, ‘दम मारो दम’, ‘चुरा लिया है तुमने जो दिल को’ आदि.

आशा भोंसले लगभग 12000 से अधिक गीत गवले बाड़ी आ उनके नाम सर्वाधिक गीत रिकॉर्ड करे खातिर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज बा. आशा भोंसले. भारतीय संगीत जगत खातिर एगो बहुते अनमोल खजाना बाड़ी आज उनका जन्मदिन पर खूबे शुभकामना. उ स्वस्थ रहस अउरी दीर्घायु होखस!

(लेखक मनोज भावुक भोजपुरी साहित्य और सिनेमा के जानकार हैं.)

Tags: Article in Bhojpuri, Bhojpuri

Source link

सब कुछ बदल सकता है लेकिन महिलाओं की उम्र नहीं… कारण जानकर छूट जाएगी हंसी

वेट लॉस में कारगर हो सकता है पत्ता गोभी का सूप, मिलेंगे कई हेल्थ बेनिफिट्स