in

Covid-19: कोरोना के हुए हैं शिकार तो 3 साल कम हो गई आपकी उम्र! जानें रिसर्च में क्या आया सामने

हाइलाइट्स

डॉ एले ने दुनिया भर के कोरोना संक्रमित लोगों का डाटा जुटाकर यह निष्कर्ष निकाला है. कोविड शरीर के कई अंगों को प्रभावित कर रहा है और समय से तीन-चार साल पहले उम्रदराज कर रहा है.

Corona patient organs aging 3-4 years: कोरोना ने दुनिया की दशा और दिशा बदल दी है. लेकिन सबसे ज्यादा नुकसान लोगों के स्वास्थ्य पर हुआ है. दुनिया भर भी अब भी कोरोना से संक्रमित होने का सिलसिला रूका नहीं है. यह अब भी कोरोना खत्म नहीं हुआ है लेकिन कई अध्ययनों में कोरोना से जुड़े डरावने संकेत आने लगे हैं. अब एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि जिन लोगों को कोरोना ने अपना शिकार बनाया था, उन लोगों के शरीर के अंग 3 से 4 साल तेजी से बूढ़े हो रहे हैं. यानी इसका मतलब यह हुआ कि कोरोना मरीजों की उम्र 3 से 4 साल घट गई है. एबीसी न्यूज के मुताबिक पिछले ढाई साल से वैज्ञानिक इस विषय पर रिसर्च कर रहे हैं कि कोरोना के कारण कोविड मरीजों की उम्र पर कितना असर पड़ा है. रिसर्च में वैज्ञानिकों को यह प्रमाण मिला है कि कोविड ने मनुष्य के अंगों को बुरी तरह प्रभावित किया है.

इसे भी पढ़ें- इसे भी पढ़ें- Diabetes care: क्या डायबिटीज के मरीजों को डेंगू का खतरा ज्यादा है? इस तरह करें खुद का बचाव

उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को तेज कर रहा वायरस
अमेरिका में वाशिंगटन यूनिवर्सिटी के क्लिनिकल एपीडेमियोलॉजिस्ट डॉ जियाद-अल-एले ने कहा कि आप अपनी उम्र बढ़ने के लिए कोविड-19 को एक उत्प्रेरक के रूप में सोच सकते हैं. निश्चित रूप से वायरल संक्रमण लोगों की उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को तेज कर रहा है. डॉ एले ने दुनिया भर के कोरोना संक्रमित लोगों का डाटा जुटाकर यह निष्कर्ष निकाला है. कोविड का किडनी पर प्रभाव , लॉन्ग कोविड का ब्रेन पर प्रभाव और लॉन्ग कोविड का हार्ट पर प्रभाव जैसे विषयों पर डॉ एले ने अध्ययन किया है. इन सबसे निष्कर्ष यही निकला है कि कोविड शरीर के कई अंगों को प्रभावित कर रहा है और समय से तीन-चार साल पहले उम्रदराज कर रहा है.

किडनी 4 प्रतिशत की दर से हो रही है कमजोर
रिपोर्ट में कहा गया है कि कोविड संक्रमण के बाद लोगों में तीन से चार प्रतिशत की दर से किडनी कमजोर हो रही है. यह आमतौर पर उम्र बढ़ने के साथ होता है. सामान्यतया तीन से चार साल उम्र बीतने के बाद ऐसा होता है. डॉ एले ने कहा कि अब हम यह देखना चाहते हैं कि कोविड का लॉन्ग टर्म इफेक्ट से बायलोजी कैसे प्रभावित हो रही है. एक अन्य शोधकर्ता ने बताया कि हमारी टीम के पास अब इस बात को खोजने की चुनौती है कि कोविड के बाद मानव शरीर के अंगों को किस तरह से उम्रदराज होने से बचाया जा सके. उन्होंने कहा कि यह ऐसा ही हो रहा है जैसे दुर्घटना होने के बाद अंग प्रभावित होते हैं.

Tags: Corona, Corona news, COVID 19

Source link

Kitu Gidwani B’day: 90 के दशक में किटू गिडवानी का था जलवा, ‘स्वाभिमान’ की स्वेतलाना को नहीं पसंद है पौराणिक शो

घोड़े पर सवार..खूंखार नहीं बल्कि सूट-बूट वाले विलेन थे अजीत,जिन्हें ‘सारा शहर लायन के नाम से जानता था’