in

Headache Red Alert: दिनभर सिरदर्द रहना ट्यूमर का लक्षण तो नहीं? डॉक्टर से जानें कैसे करें पहचान

हाइलाइट्स

अगर सिरदर्द की वजह से आंखें लाल हो रही हैं, तो तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए.सिरदर्द को लेकर बरती गई लापरवाही कई बार जानलेवा साबित हो सकती है.

Headache Causes And Prevention: अब तक आपने कई लोगों को सिरदर्द की समस्या से जूझते हुए देखा होगा. तनाव और भागदौड़ भरी लाइफस्टाइल की वजह से सिरदर्द होना आम है, लेकिन कई बार यह ट्यूमर (Tumor) जैसी खतरनाक बीमारियों का लक्षण हो सकता है. अगर आपको लगातार सुबह से लेकर रात तक सिरदर्द का सामना करना पड़ रहा है तो आप इसे हल्के में बिल्कुल न लें. आपकी यह लापरवाही जानलेवा साबित हो सकती है. आज एक्सपर्ट से जानेंगे किन-किन कारणों से सिरदर्द की समस्या हो सकती है और कब लोगों को डॉक्टर से मिलने की जरूरत होती है.

क्या होता है सिरदर्द?
गुरुग्राम के फोर्टिस हॉस्पिटल के न्यूरोलॉजी डिपार्टमेंट के डायरेक्टर डॉ. प्रवीण गुप्ता के मुताबिक सिरदर्द एक कॉमन डिसऑर्डर होता है, जो भूखा रहने, नींद पूरी न होने, स्ट्रेस और मौसम की वजह से हो सकता है. इसके अलावा भी सिरदर्द की कई वजह हो सकती हैं, जिनमें ट्यूमर समेत कई गंभीर बीमारियां हो सकती हैं. सिरदर्द को कभी भी नॉर्मल नहीं कहा जा सकता. सिरदर्द मुख्य तौर प्राइमरी और सेकेंडरी कैटेगरी में डिवाइड किया गया है. माइग्रेन, क्लस्टर हेडेक, और टेंशन हेडेक को प्राइमरी कैटेगरी में रखा गया है. सेकेंडरी कैटेगरी में सिस्टमैटिक इंफेक्शन, सिर की चोट, वैस्कुलर डिसऑर्डर, हेमरेज और ब्रेन ट्यूमर से होने वाले सिरदर्द को रखा गया है.

यह भी पढ़ेंः Diabetes के मरीज मिठाइयां खाने के बाद बस कर लें यह काम, तुरंत कंट्रोल हो जाएगा ब्लड शुगर

इन वजहों से भी हो सकता है सिरदर्द
डॉक्टर के मुताबिक कई बार आंखों की समस्याओं की वजह से सिरदर्द होने लगता है. रिफ्रैक्ट्री एरर, चश्मे का नंबर और ग्लूकोमा से सिरदर्द की समस्या हो जाती है. इसके अलावा सर्दी-जुकाम और साइनस भी सिरदर्द का कारण होते हैं.

सिरदर्द की कैसे करें पहचान?
– डॉ. प्रवीण गुप्ता के अनुसार अगर सिरदर्द की वजह से पीठ में दर्द हो रहा है और वह गर्दन तक पहुंच रहा है, तो यह माइग्रेन या तनाव की वजह से हो सकता है. रीढ़ की हड्डी में गठिया के कारण भी ऐसा दर्द होता है.
– हेयरबैंड एरिया या माथे में तेज दर्द होना भी स्ट्रेस या माइग्रेन का संकेत हो सकता है. अगर यह माइग्रेन का दर्द है तो आपको मतली के साथ तेज सिरदर्द होगा.
– साइनस के कारण होने वाला दर्द आइब्रो की हड्डी या गालों के पीछे होता है. जबकि क्लस्टर दर्द एक आंख या सिर के एक हिस्से में होता है. अगर दर्द कान के पीछे हो रहा है और सिर तक जा रहा है तो यह कान में संक्रमण या डेंटल प्रॉब्लम की वजह से हो सकता है.
– जबड़े और चेहरों की मांसपेशियों की समस्याओं की वजह से भी सिरदर्द हो सकता है. इसे टेंपोरोमंडीबुलर डिसऑर्डर (TMD) भी कहा जाता है. बुजुर्ग लोगों में यह अर्थराइटिस की वजह से होता है.
– क्लस्टर सिरदर्द आपकी सिर के एक हिस्से में होता है और इसकी वजह से आंखें लाल हो जाती हैं. अक्सर यह आधी रात पर होता है और इसकी वजह से लोग नींद से जाग जाते हैं. यह पुरुषों को ज्यादा होता है.

यह भी पढ़ेंः इस वजह से आएगी अगली महामारी ! डॉक्टर बोले- सिर्फ एक तरीका ही बचाएगा जान

कब डॉक्टर से मिलना जरूरी?
अगर सिरदर्द के दौरान आपकी आंखें लाल होती हैं तो आपको डॉक्टर से तुरंत कंसल्ट करना चाहिए. अगर सिर दर्द के दौरान खांसी आए या शरीर में अन्य समस्या हो तो भी यह रेड अलर्ट हो सकता है. 24 घंटे या कई दिनों तक लगातार तेज सिर दर्द रहना किसी बीमारी का संकेत हो सकता है ऐसी कंडीशन में भी डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए. सिरदर्द के साथ आंखों के विजन में दिक्कत, मेमोरी लॉस, हाथ पैर चलाने में दिक्कत, गर्दन का अकड़ना, सुन्न होना, बुखार और उल्टी होने जैसे लक्षण दिखने पर बिल्कुल भी लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए और एक्सपर्ट से कंसल्ट करना चाहिए.

कैसे करें सिरदर्द से बचाव?
– हाइड्रेटेड रहें और स्ट्रेस को मैनेज करें
– हर दिन पर्याप्त नींद लेना बेहद जरूरी
– प्रतिदिन एक्सरसाइज करना फायदेमंद
– 150 मिलीग्राम से कम कैफीन कंज्यूम करें
– बाइकिंग, जॉगिंग, स्विमिंग और वॉकिंग करें
– मोबाइल, लैपटॉप और कंप्यूटर स्क्रीन से ब्रेक लें
– समय-समय पर हेल्थ चेकअप कराएं

Tags: Disease, Health, Lifestyle, Mental health, Trending news

Source link

Throwback: शाहरुख खान, सलमान खान और ऐश्वर्या राय के बीच जब ‘चलते-चलते’ आई थीं दूरियां

बुसान फिल्म फेस्टिवल और IFFI के बाद ‘द स्टोरीटेलर’ की IFFK में होगी स्क्रीनिंग, परेश रावल ने जताई खुशी