in

Intermittent Asthma: क्‍या है इंटरमिटेंट अस्‍थमा? इसके लक्षणों को नजरअंदाज करना हो सकता है खतरनाक

हाइलाइट्स

इंटरमिटेंट अस्‍थमा गले में सूजन का कारण बन सकता है. इस अस्‍थमा के दौरान आती है अधिक खांसी. इंटरमिटेंट अस्‍थमा में चेस्‍ट में होती है जकड़न.

Symptoms Of Intermittent Asthma-  अस्‍थमा वो स्थिति है जिसमें ब्रोंकाइटिस में सूजन के कारण सांस लेने में तकलीफ होती है. अस्‍थमा किसी भी उम्र में हो सकता है. इसमें सीने में जकड़न, खांसी और सांस लेने में परेशानी होती है. अस्‍थमा कई प्रकार के होते हैं ऐसा ही एक अस्‍थमा है इंटरमिटेंट अस्‍थमा. इस अस्‍थमा में व्‍यक्ति को एक हफ्ते में दो से अधिक दिन लक्षण नहीं दिखाई नहीं देते. वहीं कुछ मामलों में एक महीने में केवल दो रात ही ट्रिगर करता है. यदि कोई व्‍यक्ति अस्‍थमा के लक्षणों को अधिक बार अनुभव करता है तो उन्‍हें परसिस्‍टेंट अस्‍थमा कहा जाता है. इंटरमिटेंट अस्‍थमा कई बार गंभीर हो जाता है और आमतौर पर दवाओं के साथ इसे कंट्रोल किया जा सकता है.

रु‍क-रुक कर होने वाले अस्‍थमा से पीड़ित व्‍यक्ति को नियमित रूप से सांस लेने में कठिनाई का अनुभव नहीं होता है. इसके लक्षण नॉर्मल अस्‍थमा से अलग हो सकते हैं. मेडिकल न्‍यूज टुडे के अनुसार इंटरमिटेंट अस्‍थमा से पीड़ित लोगों को महीने में एक बार ही ऐसे लक्षण दिखाई देते हैं. हालांकि इंटरमिटेंट अस्‍थमा के अधिकांश एपिसोड माइल्‍ड होते हैं लेकिन कई बार ये गंभीर रूप भी ले लेता है. इसके लक्षणों को नजरअंदाज करना अस्‍थमा को बढ़ा सकता है.

एयरफ्लो ऑब्‍सट्रक्‍शन
अस्‍थमा लंग्‍स के कार्य में बाधा डालता है जिस वजह से किसी व्‍‍यक्ति के लिए सामान्‍य रूप से सांस लेने और छोड़ने में मुश्किल हो सकती है. इंटरमिटेंट अस्‍थमा के लक्षण रुक-रुक कर आते हैं जिस वजह से एयरफ्लो ऑब्‍सट्रक्‍शन में परेशानी आ सकती है.

यह भी पढ़ेंः गुड कोलेस्ट्रॉल इन 5 तरीकों से करें बूस्ट, हार्ट डिजीज की टेंशन हो जाएगी खत्म

चेस्‍ट में जकड़न
इंटरमिटेंट अस्‍थमा में खांसी अधिक और लगातार आती है जिस वज‍ह से चेस्‍ट में जकड़न महसूस होने लगती है. ये अस्‍थमा रात में अधिक परेशान करता है जिन वजह से नींद आने में कठिनाई आती है. प्रॉपर नींद न होने की वजह से भी चेस्‍ट में जकड़न हो सकती है.

यह भी पढ़ेंः ग्रीन टी से ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मिलती है मदद, स्टडी में हुआ खुलासा

घरघराहट की आवाज
अस्‍थमा होने पर गले में सूजन की समस्‍या हो जाती है. सूजन की वजह से मांसपेशियों के बीच से हवा पास होने में कठिनाई आती है जिस वजह से सांस लेते वक्‍त घरघराहट की आवाज आने लगती है. घरघराहट होने पर डॉक्‍टर से संपर्क करना जरूरी है.

Tags: Health, Lifestyle, Symptoms

Source link

Dhanteras 2022: रश्मि देसाई ने खास मैसेज से फैंस को दी धनतेरस की बधाई, कहा- जब तक आप अपनी कीमत नहीं समझेंगे..

Dipika Chikhalia: धनतेरस पर लक्ष्मी माता की कृपा पाने के लिए ‘सीता’ ने बताया उपाय, देखें VIDEO