in

Lata Mangeshkar की जयंती पर मिलेगा सिंगर शैलेंद्र और म्यूजीशियन आनंद-मिलिंद को लता मंगेशकर अवॉर्ड

प्लेबैक सिंगर शैलेंद्र सिंह और संगीतकार जोड़ी आनंद-मिलिंद को 28 सितंबर को दिवंगत गायिका लता मंगेशकर की जयंती पर उनके जन्मस्थान इंदौर में राष्ट्रीय लता मंगेशकर पुरस्कार (Lata Mangeshkar Award) से सम्मानित किया जाएगा.

संगीत के क्षेत्र में उत्कृष्टता को बढ़ावा देने के लिए, मध्य प्रदेश का संस्कृति विभाग हर साल यह पुरस्कार देता है. इसमें दो लाख रुपये के नकद पुरस्कार के साथ एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है. शैलेंद्र सिंह, जो अपनी अलग आवाज के लिए जाने जाते हैं. जिन्होंने 1970 और 80 के दशक में कई लोकप्रिय गाने गाए थे, उन्हें साल 2019 के लिए लता मंगेशकर पुरस्कार दिया जाएगा.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, आनंद-मिलिंद को साल 2020 के लिए यह प्रतिष्ठित पुरस्कार मिलेगा, जिन्होंने 200 से अधिक फिल्मों के लिए संगीत तैयार किए हैं. मध्य प्रदेश सरकार ने पिछली बार 7 फरवरी 2020 को लता मंगेशकर पुरस्कार समारोह का आयोजन किया था. उसके बाद, कोविड-19 महामारी के कारण इसे आयोजित नहीं किया जा सका.

लता मंगेशकर का इसी साल 6 फरवरी को हुआ था निधन

महान गायिका लता मंगेशकर का जन्म 28 सितंबर 1929 को इंदौर में हुआ था. बता दें कि लता मंगेशकर का इसी साल 6 फरवरी को 92 साल की आयु में निधन हो गया था. उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था. सिंगर को 8 जनवरी को जब मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, तब उन्हें कोविड-19 से संक्रमित पाया गया था. वे निमोनिया से भी पीड़ित थीं.

लता मंगेशकर ने जीते थे कई पुरस्कार

लता मंगेशकर भारत की सबसे महान और प्रभावशाली गायिकाओं में से एक थीं. उन्होंने करीब आठ दशकों के लंबे करियर में भारतीय संगीत जगत को अपना योगदान दिया था. उन्हें देश और दुनिया के कई बड़े पुरस्कारों से सम्मानित किया गया था. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, भारत सरकार ने साल 1989 में उन्हें दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया था. उन्हें भारत सरकार ने ‘भारत रत्न’ दिया था. फ्रांस ने उन्हें साल 2007 में अपने सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से नवाजा था.

Tags: Lata Mangeshkar

Source link

कम यूरिन निकलना हो सकता है सेप्सिस के कारण, जानें क्या होती है यह बीमारी

बच्चे को डकार दिलवाते समय सही पोजीशन का इस तरह रखें ख्याल