in

Papaya During Pregnancy: क्या प्रेग्नेंसी के दौरान पपीता खाने से हो सकता है मिसकैरेज? जानें सब कुछ

हाइलाइट्स

प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए भोजन और पोषक तत्व जरुरी हैपपीता प्रोटीन, डाइट्री फाइबर से भरपूर होता है पपीता कच्चा हो या पका मासिक धर्म में बदलाव नहीं करता है

Papaya During Pregnancy : प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को काफी सावधानी बरतने की जरूरत होती है क्योंकि इस दौरान शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं.  हार्मोन में बदलाव के कारण उल्टी, जी मिचलाना और शरीर में दर्द की समस्या भी हो सकती है. इस समय महिला अपने और अपने बच्चे के स्वास्थ्य को लेकर इतनी सचेत होती है कि उसे फल आदि में भी रिस्क दिखने लगते हैं जोकि सही बात है क्योंकि कुछ फलों का सेवन करने से मिसकैरिज का रिस्क बढ़ सकता है.

प्रेग्नेंट होने पर महिलाओं के लिए भोजन और पोषक तत्व जरुरी हैं. प्रेग्नेंसी के समय महिलाओं को प्रेग्नेंट होने पर कौन सा खाना खाना चाहिए और कौन से भोजन से बचना चाहिए, इसके लिए काफ़ी सलाह दी जाती है . लेकिन फल एक अच्छी संतुलित डाइट का हिस्सा है, कुछ फलों को प्रेग्नेंट महिलाओं को खाने से बचने के लिए कहा जाता है. अगर आपका पपीता खाने का मन करता है तो जान लें कि इसे खाना सुरक्षित है या नही.  

यह भी पढ़ेंः यूरिक एसिड बढ़ने से किडनी फेलियर का खतरा, जानें इसे कंट्रोल करने का तरीका

क्या पपीता खाना प्रेग्नेंसी में सुरक्षित है?
हेल्थ लाइन के अनुसार सभी फलों में पपीता सबसे ज्यादा स्वादिष्ट होने के साथ हमारी सेहत के लिए भी अच्छा है. पपीता प्रोटीन, डाइट्री फाइबर से भरपूर होता है और इसमें फैट्स भी  कम मात्रा में पाए जाते हैं. इसलिए अगर आप वज़न घटाना चाह रही हैं, तो पपीते को अपने भोजन में ज़रूर ले. लेकिन ज्यादा लंबे समय से प्रेग्नेंसी के दौरान कुछ फलों को ना खाने की सलाह दी जाती है. पके हुए पपीते में बीटा कैरोटीन, कोलीन रेशा, फोलेट, पोटैशियम और विटामिन ए, बी, और सी पाए जाते हैं. पका पपीता प्रेग्नेंट महिलाओं  के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है.

कच्चे पपीते में लेटेक्स पाया जाता है
एक शोध में सामने आया है कि प्रेगनेंट महिला के लिए पका हुआ पपीता खाना सुरक्षित है, लेकिन कच्चा पपीता खाने से मिसकैरेज या समय से पहले दर्द हो सकता है. ऐसा कच्चे पपीते में पाए जाने वाले पेपेन एंज़ाइन की वजह से था. लेकिन ऐसा कोई शोध अभी तक नहीं किया गया है जो इसे साबित कर सके.कच्चे पपीते में पाया जाने वाला पपैन नाम का एक प्रोटीयोलाइटिक एंज़ाइम गर्भाशय के संकुचन और पाचन संबंधी दिक्कतों का कारण बन सकता है. इसलिए हम प्रेगनेंट महिलाओं को कच्चे पपीते को ना खाने की सलाह देते हैं. लेकिन पका हुआ पपीता प्रेग्नेंसी में लाभ दायक हो सकता है.

निम्न फलों से प्रेग्नेंसी के दौरान आपको दूरी बनानी चाहिए
अंगूर
अंगूर में रेस्वेराट्रोल होता है और अंगूर के छिलके को पचाने में कठिनाई होती है. इस आधार पर अंगूर को प्रेग्नेंसी के समय नही खाना चाहिए.

यह भी पढ़ेंः ज्यादा तनाव की वजह से घट सकता है वजन? रिसर्च में सामने आया कनेक्शन

अनानास
अनन्नास के बारे में जानकारी मिलती है कि अनानास मिसकैरेज का कारण बन सकता है , लेकिन साइंटिफिक इस बात को लेकर कोई प्रमाण नहीं हैं इसलिए इसका सेवन करने से पहले एक बार आपको डॉक्टर की सलाह जरूर लें लेनी चाहिए.

Tags: Health, Lifestyle

Source link

Video: राहुल वैद्य ने सर्दी जुकाम के लिए पत्नी दिशा परमार को बताया रामबाण इलाज! क्या आप करेंगे ट्राय

The Legend फ्लॉप देने के बाद उर्वशी रौतेला को मिला महंगी साउथ फिल्म में काम करने का मौका, बनेंगी आइटम क्वीन