in

Rakesh Roshan ने बॉलीवुड फिल्मों के फ्लॉप होने की बताईं कई वजह, बोले- ‘न गाने और न ही कॉन्टेंट में दम’

राकेश रोशन (Rakesh Roshan) आज अपना 73वां जन्मदिन मना रहे हैं. एक्टर का मानना है कि दर्शकों का एक बड़ा समूह फिल्म निर्माताओं की पसंद के विषयों से जुड़ नहीं पा रहा है. उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया कि बॉलीवुड फिल्में बॉक्स ऑफिस पर क्यों नहीं चल पा रही हैं. राकेश रोशन ने इस बारे में भी खुलकर बात की कि कैसे गानों की फिल्मों में उपेक्षा होने लगी है, जिससे सुपरस्टार्स का उभरना मुश्किल हो गया है.

‘कहो ना… प्यार है’ और ‘कोई… मिल गया’ जैसी सुपरहिट फिल्मों का निर्देशन कर चुके राकेश ने फिल्मों में गानों के महत्व के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि बॉलीवुड को ‘पुष्पा’ या ‘आरआरआर’ से सीखना चाहिए, क्योंकि इन फिल्मों के हर एक गाने ने लोगों को दीवाना बनाया है. उन्होंने कहा कि बॉलीवुड फिल्म निर्माता मॉडर्न सिनेमा बनाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन यह आबादी के एक फीसदी लोगों के साथ फिट बैठता है.

राकेश रोशन ने फिल्मों के फ्लॉप होने की बताई वजह
राकेश ने बॉलीवुड हंगामा को बताया, ‘हिंदी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर चल नहीं पा रही हैं, क्योंकि लोग ऐसी फिल्में बना रहे हैं, जिन्हें वे और उनके दोस्त देखना पसंद करते हैं. वे ऐसे विषय चुन रहे हैं जो दर्शकों के बहुत छोटे वर्ग को पसंद आती हैं. दर्शकों का एक बड़ा हिस्सा इससे जुड़ नहीं सकता.’

राकेश रोशन ने फिल्मों में गाने के महत्व को समझाया
वे आगे कहते हैं, ‘एक और बड़ी समस्या यह है कि फिल्म में गानों को कम तवज्जो दिया जा रहा है. पहले एक फिल्म में 6 गाने हुआ करते थे. ये गाने एक्टर्स को सुपरस्टार बनने में मदद करते थे. सुपरस्टार बनना फिलहाल बहुत मुश्किल है. अमिताभ बच्चन, राजेश खन्ना के गाने आप देखिए… उनके गाने फिल्म का इतना अहम हिस्सा हुआ करते थे. गानों ने उनकी फिल्मों को सुपर-डुपर हिट बनाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाई थी. उदाहरण के लिए, पुष्पा या आरआरआर को लें. हर गाना एक क्रेज बन गया. इसलिए हमें उनकी सफलता से सीख लेनी चाहिए.’

राकेश रोशन ने मूल कहानियों पर दिया जोर
राकेश ने यह भी कहा कि हिंदी फिल्मों के विपरीत, तेलुगु और तमिल फिल्में अभी भी ‘मूल कहानियों’ से चिपकी हुई हैं और उन्हें ‘कमर्शियल फैक्टर’ को ध्यान में रखते हुए बहुत अच्छे तरीके से पेश किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि ‘बाहुबली’ उनकी 1995 की फिल्म ‘करण अर्जुन’ से काफी मिलती-जुलती है, इन फिल्मों में ऐसे गाने थे जो ‘लार्जर देन लाइफ’ हैं और इसलिए वे लोगों को पसंद आईं.

Tags: Rakesh roshan

Source link

सरकारी नौकरी पाने का शानदार मौका,प्रोफेसर के पदों पर निकली सरकारी नौकरी, जानें पूरी डिटेल | tspsc professor recruitment 2022, government jobs

चेहरे की खास देखभाल के लिए ट्राई करें डर्माप्लानिंग फेशियल, फायदे जानकर रह जाएंगे हैरान