in

Weight Gain Cause: देर रात को कम खाकर भी आप हो सकते हैं मोटे, जानिए रात के खाने और मोटापा का कनेक्शन

हाइलाइट्स

देर रात खाना खाने पर शरीर में लेप्टिन हार्मोन का स्तर अगले 24 घंटे के दौरान बहुत कम हो जाता हैदेर रात तक खाते हैं उन्हें कई क्रॉनिक बीमारियों का जोखिम बढ़ जाता है

Late night eating increase weight: हमारी फूड हैबिट्स इतनी ज्यादा खराब हो गई है कि हम खाने के नाम पर सिर्फ पेट भरते हैं. सुबह का नाश्ता अक्सर स्किप कर देते हैं दोपहर के खाने में खूब खाते हैं और शाम को भी हैवी नाश्ता कर लेते हैं जिसका नतीजा ये होता है कि हमें रात को समय पर भूख नहीं लगती. डिनर करने का सही समय 7-8 बजे का हैं लेकिन हमारी फूड्स हैबिट्स की वजह से हम देर रात खाना खाते हैं. लेकिन हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के नए अध्ययन में कहा गया है कि देर रात खाना आपको मोटापा का शिकार बना सकता है. देर रात तक डिनर करने से ब्लड में शुगर का स्तर कम हो सकता है और इम्युनिटी कमजोर हो सकती है. उससे भी ज्यादा असर डिनर में मौजूद अनहेल्दी फूड्स से होता है जो पाचन को खराब करते है और अपच जैसी परेशानियों का कारण बनते हैं. आप भी बढ़ते मोटापा से परेशान हैं तो सबसे पहले अपनी देर रात खाने की आदत को बदलें. आइए जानते हैं कि देर रात खाना खाना कैसे मोटापा को बढ़ाता है.

इसे भी पढ़ें- Diwali 2022: कहीं आप भी तो नहीं खा रहे मिलावटी मिठाई? लिवर-किडनी को हो सकता है नुकसान, डॉक्टर से जानें बचाव के उपाय

देर रात खाने से ऊर्जा खर्च सीमित
हार्वर्ड मेडिकल स्कूल की वेबसाइट के मुताबिक ब्रिंघम वूमेंस अस्पताल के शोधकर्ताओं ने अध्ययन करने के बाद पाया कि जब हम खाना खाते हैं तो उसका असर हमारी ऊर्जा खर्च, हमारी भूख और टिशू में मॉलीकूलर पाथवे पर पड़ता है. शोधकर्ता प्रोफेसर फ्रांस शिचिर ने बताया कि हम यह समझना चाहते थे कि आखिर वह कौन सी प्रक्रिया है जिसके कारण रात को खाना खाने से मोटापा बढ़ जाता है. इसके लिए कुछ प्रतिभागियों को शामिल किया गया और उनकी दैनिक दिनचर्या, नींद के पैटर्न, डाइट और समय पर बारीक नजर रखी गई. कुछ दिनों के बाद जब अध्ययन निष्कर्ष पर पहुंचा तो पाया गया कि देर रात भोजन करने का असर भूख और भूख को नियंत्रित करने वाले हार्मोन लेप्टिन और घ्रेलिन पर पड़ा.

संतुष्टि वाला हार्मोन कम हो गया
शोधकर्ताओं ने बताया कि जब लोगों ने देर रात खाना खाया तो उसके शरीर में लेप्टिन हार्मोन का स्तर अगले 24 घंटे के दौरान बहुत कम हो गया. दिलचस्प बात यह है कि लेप्टिन हार्मोन ही खाने के बाद हमें संतुष्टि का अहसास कराता है. जब हम खाना खा लेते हैं तो लेप्टिन हार्मोन से निकले संदेश के कारण ही हमें संतुष्टि का एहसास होता है और हम इसके बाद पेट भरा हुआ महसूस करते हैं. इसका मतलब यह हुआ है कि लेप्टिन हार्मोन की कमी के कारण हमें भूख और लगती है और हम खाते चले जाते हैं. शोधकर्ताओं ने बताया कि देर रात खाने वालों में कैलोरी बर्न होना भी बहुत धीमा हो गया जिसके कारण एडीपोज टिशू में एडीपोजेनेसिस शुरू हो गया. यानी टिशू में फैट जमा होने लगा. इस तरह उनमें बेतरतीब मोटापा बढ़ने लगा.

रात को खाने से यह होता है असर
एक्सपर्ट के मुताबिक रात का खाना सोने से तीन घंटे पहले खाना सेहत के लिए फायदेमंद है. नॉर्थ वेस्टर्न यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के मुताबिक देर रात तक खाने से मोटापा बढ़ने का खतरा बढ़ता है. इससे शरीर में लंबे समय तक अतिरिक्त कैलोरी एकत्रित रहती है, जो फैट के रूप में जमा हो जाती है. यूनिवर्सिटी ऑफ पेन्सिलवेनिया में हुई रिसर्च के मुताबिक जो लोग देर रात तक खाते हैं उन्हें कई क्रॉनिक बीमारियों जैसे बीपी, ब्लड शुगर और दिल के रोगों का खतरा अधिक रहता है. रात का खाना देर से खाने से ग्लूकोज का स्तर बढ़ता है. कई रिसर्च में ये बात सामने आई है कि जो लोग रात के 8 बजे के बाद खाते हैं वो ज्यादा कैलोरी का सेवन करते हैं जिसकी वजह से मोटापा बढ़ता है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

शर्लिन चोपड़ा ने साजिद खान के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत, ‘Bigg Boss 16’ से हटाने की लगाई गुहार

बॉलीवुड में नेपोटिज्म पर खुलकर बोलीं यामी गौतम, वर्तमान स्थिति पर भी डाली नजर