in

World Physical Therapy Day 2022: फिजिकल थेरेपी का काम करती हैं ये 5 एक्सरसाइज, फिट रहने के लिए कर दें शुरू

हाइलाइट्स

चेस्ट और पीठ ही हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए चेस्ट ओपनर थेरेपी आजमा सकते हैं.गर्दन और कमर का दर्द रिमूव करने के लिए चाइल्ड पोज एक्सरसाइज करना बेहतर है.

World Physical Therapy Day 2022: आजकल की बिजी और अनबैलेंस्ड लाइफस्टाइल में हेल्दी रहना ज्यादातर लोगों के लिए मुश्किल टास्क बन गया है. जिसके चलते लोग अक्सर नई-नई बीमारियों से परेशान रहते हैं. ऐसे में हेल्थ प्रॉब्लम्स के शिकार लोगों के लिए थेरेपी ट्राइ करना एक अच्छा ऑप्शन होता है. हालांकि कई लोगों में थेरेपी (Therapy) से जुड़ी जानकारियों का अभाव देखने को मिलता है. इसी वजह से थेरेपी को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए हर साल 8 सितम्बर को वर्ल्ड फिजिकल थेरेपी डे मनाया जाता है. बिजी शेड्यूल के कारण कई लोग खुद को फिजिकली फिट नहीं रख पाते हैं. वहीं कुछ फिजिकल एक्टिविटी करने के बाद भी लोगों को कमर दर्द और बॉडी पेन का सामना करना पड़ता है. ऐसे में फिजिकल थेरेपी करना आपकी सभी समस्याओं का बेस्ट इलाज हो सकता है. तो आइए वर्ल्ड फिजिकल थेरेपी डे पर हम आपको बताते हैं कुछ आसान एक्सरसाइज के बारे में, जिनकी मदद से आप फिजिकली फिट रह सकते हैं.

चाइल्ड पोज (बालासन)

गर्दन और कमर का दर्द रिमूव करने के लिए चाइल्ड पोज एक्सरसाइज करना काफी असरदार तरीका होता है. बालासन करने के लिए सबसे पहले वज्रासन में बैठ जाएं. इस पोजीशन में पैरों के घुटने आपके अंगूठे से टच होने चाहिए. अब गहरी सांस लेते हुए हाथों को ऊपर उठाएं. फिर हाथों को नीचे लाकर सामने की तरफ फैलाएं और बॉडी को हिप से बेंट कर लें. कुछ देर तक इस पोजीशन में रहने के बाद इस प्रोसेस को रिपीट करें.

ये भी पढ़ें: फिजिकल थेरेपी से पाएं कई शारीरिक समस्याओं से छुटकारा, होते हैं ये फायदे

आर्म रोल

कंधों के दर्द से निजात पाने के लिए आर्म रोल थेरेपी करना बेस्ट होता है. इसके लिए पेट के बल लेट जाएं. अब अपने दाहिने हाथ को ऊपर की तरफ सीधा फैलाएं. हाथों को जमीन पर टच कराए रखें और दाहिने कंधे को दाएं से बाईं तरफ सर्कुलर मोशन में घुमाएं. अब यही प्रक्रिया बाएं हाथ और कंधों के साथ भी दोहराएं.

कोबरा पोजीशन (भुजंगासन)

कोबरा पोज को आम भाषा में भुजंगासन भी कहा जाता है. बैक पेन से छुटकारा पाने के लिए कोबरा पोज ट्राइ करना काफी फायदेमंद हो सकता है. इसके लिए पेट के बल लेट जाएं. अब अपने सर को उठाते हुए दोनों हथेलियों को फर्श पर रखें और फिर धीरे-धीरे चेस्ट को भी ऊपर की तरफ उठा लें. ध्यान रहे कि पैरों की पोजीशन चेंज नहीं होनी चाहिए. इस पोजीशन में आप फर्श को धक्का मारते हुए नजर आएंगे.

ये भी पढ़ें: आज मनाया जा रहा ‘वर्ल्ड फिजिकल थेरेपी डे’, जानें इसका इतिहास और महत्व

चेस्ट ओपनर ( वज्रासन)

चेस्ट और पीठ ही हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए आप चेस्ट ओपनर थेरेपी भी आजमा सकते हैं. इसके लिए वज्रासन में बैठ जाएं और हाथों को पीठ की तरफ ले जाएं. अब हाथों से फर्श को धक्का देते हुए हाथों को पीछे की तरफ फैलाएं. चेस्ट ओपेन होने तक हाथों को पीछे ले जाएं और अपने सर को उठाए रखें. इस पोजीशन में कम से कम 5 बार डीप ब्रीथिंग करें और फिर से वज्रासन में बैठ जाएं.

गोलपोस्ट स्क्वीज

ये थेरेपी ट्राइ करने के लिए सीधे बैठ कर हाथों को गोलपोस्ट पोजीशन में रखे. अब कोहनियों को मोड़ते हुए कंधों से 90 डिग्री का एंगल बनाएं. इसके बाद कोहनियों को खीचें और कंधों को नीचे की तरफ झुका लें. हर रोज कम से कम 10 बार ये एक्सरसाइज जरूर करें. इससे आपको पीठ और कंधों के दर्द से राहत मिलेगी.

Tags: Health News, Health tips, Lifestyle

Source link

Video: भोजपुरी एक्ट्रेस नीलम गिरी को हुआ निरहुआ के भाई से प्यार! बोलीं- ‘दिलवा ले गईले राजा बोतल में भरके’

JEE Advanced 2022 की आसंर की इस हफ्ते होगी जारी, ऐसे करें चेक | jee advanced 2022 results final answer key releasing this week