in

World Radiography Day 2022: कब पड़ सकती है रेडियोग्राफी की ज़रूरत? जानें इससे जुड़ी 11 महत्वपूर्ण बातें

हाइलाइट्स

आज ‘विश्व रेडियोग्राफी दिवस’ मनाया जा रहा है.किसी भी बीमारी के सफल और सही इलाज के लिए रेडियोग्राफी एक्स-रे किया जाता है.अंदरूनी बीमारियों का पता लगाने के लिए ज़रूरी है रेडियोग्राफी एक्स-रे.

विश्व भर में हर साल आज (8 नवंबर) के दिन ‘वर्ल्ड रेडियग्राफी डे’ मनाया जाता है. रेडियोग्राफी एक एक्स-रे तकनीक है, जिसका इस्तेमाल शरीर के अंदरूनी अंगों की तस्वीर लेने और बीमारियों का पता लगाने के लिए किया जाता है, लेकिन ज्यादातर लोग इससे वाकिफ नहीं हैं. आइए जानते हैं इस लेख में रेडियोग्राफी से जुड़ी 11 महत्वपूर्ण बातें.

इसे भी पढ़ें: World Radiography Day 2022: क्‍यों मनाया जाता है ‘वर्ल्‍ड रेडियोग्राफी डे’? जानें क्‍या है इसका उद्देश्‍य

1.रेडियोग्राफी से डॉक्टर को अंदरूनी बीमारियों के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी पाने में मदद होती है.

2. इससे शरीर के अंदरूनी हिस्सों की हाई रिजोल्यूशन तस्वीरे ली जाती हैं, जिससे मरीज की स्पष्ट रिपोर्ट के बारे में जानने में मदद होती है. 

3. रेडियोग्राफी से बीमारियों की जड़ का पता लगाने में मदद होती है. हम सभी जानते हैं कि बिना बिमारी का पता लगाए इलाज संभव नहीं है. यही नहीं समय पर बीमारी का पता लगाने से मरीज की जान को बचाया जा सकता है. 

4. दांतों की जांच व दांतों से संबंधित बीमारियों का पता लगाने के लिए भी रेडियोग्राफी एक्स-रे किया जाता है.

5. सर्जरी के बाद यह पता लगाने के लिए कि ऑपरेशन सही हुआ है या नहीं, रेडियोग्राफी एक्स-रे कराया जाता है.

6. आमतौर पर डॉक्टर फ्रैक्चर, हड्डी में किसी तरह की चोट व जोड़ों में असामनता का पता लगाने के लिए हड्डी का एक्स-रे कराते हैं. शरीर के किसी भी हिस्से में हड्डी की तस्वीर निकालने के लिए कम मात्रा में रेडिएशन का इस्तेमाल किया जाता है.  

7. ब्रेस्ट कैंसर व ब्रेस्ट संबंधित परेशानियों का पता लगाने के लिए मैमोग्राफी एक्स रे की मदद से ब्रेस्ट की अंदरूनी तस्वीरें ली जाती हैं. बता दें कि मैमोग्राफी एक रेडियोग्राफी तकनीक है.

8. एमरजेंसी की स्थिति में पेशेंट को जल्दी व सही इलाज देने के लिए भी इस तकनीक का सहारा लिया जाता है. इससे डॉक्टर को मरीज की हालत को लेकर विस्तृत जानकारी हासिल करने में मदद होती जिससे व मरीज का प्रभावी ढंग से इलाज करने में सक्षम होते हैं.

9. रेडियोग्राफी एक तरह की एक्स-रे प्रक्रिया है, जिसमें अन्य एक्स-रे की तरह कुछ जोखिम होते हैं. 

10. रेडियोग्राफी एक्स-रे कराने से कैंसर व आगे चलकर मोतियाबिंद होने का जोखिम होता है. हालांकि, इसकी संभावना बहुत कम होती है. 

11. प्रेग्नेंट महिलाओं में रेडियाग्राफी एक्स-रे से भ्रूण की वृद्धि या विकास में बाधा उत्पन्न हो सकती है.

Tags: Health, Lifestyle

Source link

दास्तान-गो : सितारा देवी यानी ‘औरत की शक़्ल में तूफ़ान’, ऐसा स’आदत हसन मंटो कहा करते थे!

आलिया भट्ट-रणबीर कपूर से मिलने अस्पताल पहुंचे दोस्त अयान मुकर्जी, नन्ही परी को देख हुए खुश