in

Zink deficiency: जिंक की कमी से स्किन, आंख, इंफर्टिलिटी और बालों की समस्या एक साथ आ सकती है, इन फूड से करें मैनेज

हाइलाइट्स

शरीर में जिंक की कमी के बाद एक साथ कई लक्षण दिखने लगते हैं.छाछ, बींस, काजू, दूध, पंपकिन सीड्स आदि में जिंक पाया जाता है.

Zink rich diet: जिंक हमारे शरीर के लिए बेहद अनिवार्य मिनिरल है. शरीर में जिंक के कारण इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होता है. जब शरीर में कहीं घाव हो जाता है तो जिंक ही उस घाव को भरने में मदद करता है. प्रेग्नेंसी के दौरान बच्चे के सामान्य वृद्धि और विकास के लिए जिंक का होना बहुत जरूरी है. विकास कर रहे बच्चे और किशोर को जिंक की ज्यादा आवश्यकता होती है. हमारे शरीर में अक्सर जिंक की कमी हो जाती है. इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि शरीर में जिंक का स्टोरेज नहीं हो पाता है. इसलिए जब भोजन के माध्यम से जिंक शरीर में नहीं पहुंचता तो जिंक की कमी होने लगती है.

इसे भी पढ़ें- Cancer alert: बालों को मजबूत करने वाले हेयर प्रोडक्ट से महिला को हुआ कैंसर! ठोका मुकदमा 

जिंक की कमी के कारण
हेल्थ डायरेक्ट वेबसाइट के मुताबिक चूंकि शरीर में जिंक का स्टोरेज नहीं हो पाता है, इसलिए अगर किसी के खान-पान में रोजाना जिंक नहीं होता तो उसे जिंक की कमी हो जाती है. प्रोटीन कुछ समय के लिए जिंक को एब्जोर्ब कर सकता है लेकिन अगर डाइट से जिंक पर्याप्त मात्रा में नहीं आता तो इसकी कमी होने लगती है. इसके अलावा पेट की बीमारी और कुछ दवाइयों के कारण भी जिंक की कमी हो सकती है. वेजिटेरियन, बुजुर्ग और बच्चे को जिंक की कमी का जोखिम ज्यादा रहता है.

जिंक की कमी के लक्षण
शरीर में जिंक की कमी के बाद एक साथ कई लक्षण दिखने लगते हैं. सबसे पहले भूख मरने लगती है. यहां तक कि खाने का स्वाद और गंध का एहसास भी नहीं होता. वजन कम होने लगता है. इससे पहले अगर कहीं घाव निकल आया है तो वह जल्दी भरता नहीं है. जल्दी-जल्दी इंफेक्शन होने लगता है. डायरिया भी हो सकता है. जिंक की कमी से पीड़ित व्यक्ति चिड़चिड़ाा होने लगता है. इसके अलावा नाखूनों का रंग बदलने लगता है और लंबे समय तक जिंक की कमी से बाल भी झड़ने लगते हैं. स्किन में जगह-जगह रेशेज निकल आते हैं. जिंक की कमी से आंखों में भी समस्या आने लगती है. अगर लंबे समय तक जिंक की पूर्ति शरीर में न हो तो पुरुषों में नपुंसकता आ सकती है. इससे स्पर्म काउंट में भारी गिरावट आती है.

इलाज क्या है
अगर स्किन या उपर बताए गए लक्षणों का सामना कर रहे हैं तो डॉक्टर के पास जाएं. डॉक्टर जांच करने के बाद पता लगाते हैं कि जिंक की कमी है या नहीं. अगर जिंक की कमी है तो जिंक सप्लीमेंट से इसे सही किया जा सकता है. मल्टीविटामिन की गोलियों में भी जिंक रहता है. इसलिए उसका भी सेवन फायदेमंद है.

जिंक वाले फूड
बहुत से ऐसे फूड हैं जिनमें जिंक मौजूद होता है. लगभग सभी हरी पत्तीदार सब्जियों में जिंक होता है. इसके अलावा फिश, मटन, सीफूड आदि में जिंक रहता है. बीज वाले फूड जैसे चिया सीड्स, सरसों के दानें, अलसी के बीज, सूरजमूखी के बीज, रागी आदि में पर्याप्त मात्रा में जिंक होता है. चूंकि शरीर खुद जिंक को अवशोषित नहीं करता, प्रोटीन इसे अवशोषित करता है. इसलिए प्रोटीनयुक्त फूड का ज्यादा सेवन भी जिंक को बढ़ा सकता है. चीज, चिकेन ब्रेस्ट, कॉर्न फ्लेक्स, छाछ, बींस, काजू, दूध, पंपकिन सीड्स आदि में जिंक पाया जाता है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle, Trending news

Source link

VIDEO: कैटरीना कैफ ने पति के साथ किया ऐसा काम, विक्की कौशल ही नहीं, फैंस भी हुए हैरान

चारु असोपा और राजीव सेन फिर तलाक के लिए तैयार, सितंबर में उनके पैच-अप के बाद क्या गड़बड़ हुई?